जब एक इंटिमेट सीन के लिए चित्रां...

जब एक इंटिमेट सीन के लिए चित्रांगदा सिंह से कहा गया, ‘उठाओ अपना पेटीकोट और…’ लेकिन सेट पर किसी ने नहीं किया था उन्हें सपोर्ट(When For A Steamy Scene Chitrangda Singh Was Asked ‘Apna Petticoat Uthao Aur….’ But No One Said Anything)

राज कुंद्रा पोर्न केस खुलासे के बाद बॉलीवुड में पोर्नोग्राफी पर एक बार फिर चर्चा हो रही है. कई एक्ट्रेस-मॉडल्स सामने आ रही हैं और अपनी कहानी बता रही हैं कि किस तरह उनसे धोखे से या ज़बरदस्ती न्यूड सीन्स करवाए जाते हैं. इसी बीच एक्ट्रेस चित्रांगदा सिंह के साथ हुआ एक इंसिडेंस भी इन दिनों सुर्खियों में बना हुआ है, जिसमें एक्ट्रेस ने बताया था कि कैसे एक डायरेक्टर ने उन्हें कपड़े उतारकर गंदा सीन करने को कहा था और सेट पर मौजूद किसी ने उनके सपोर्ट में कुछ नहीं कहा.

Chitrangda Singh

ये सनसनीखेज खुलासा चित्रांगदा ने MeToo मूवमेंट के दौरान किया था. उनके साथ यह घटना फ़िल्म ‘बाबूमुशाय बंदूकबाज’ के सेट पर हुई थी. इस फिल्म के प्रोड्यूसर डायरेक्टर कुशान नंदी थे. एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी के लीड रोल वाली ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर तो धमाल मचा पाई थी, लेकिन बोल्ड सीन्स और चित्रांगदा सिंह के इस खुलासे के बाद फिल्म चर्चा में आ गई थी. चित्रांगदा ने बताया था कि उस दिन की घटना के बाद उन्‍होंने यह फिल्‍म ही छोड़ दी.

मुझे पेटीकोट हटाकर नवाज के ऊपर बैठने को कहा गया

Chitrangda Singh


चित्रांगदा सिंह ने उस दिन शूटिंग वाली घटना का ज़िक्र करते हुए बताया था, “उस दिन जब मैं शूटिंग कर रही थी तो अचानक फिल्म के डायरेक्टर आ गए और उन्होंने मुझे नवाजुद्दीन के साथ एक इंटिमेट सीन शूट करने को बोला. उन्होंने मुझसे कहा, ‘अपना पेटीकोट उतारो और रगड़ो अपने आप को’. पहले तो मेरी कुछ भी समझ में नहीं आया. फिर मुझे नवाज के ऊपर बैठने को कहा गया तब मुझे समझ आया कि आखिर ये लोग मुझसे कराना क्या चाहते हैं. यह बहुत शॉकिंग था मेरे लिए. मेरी आंखों में आंसू आ गए थे, मैंने विरोध किया तो वो कहने लगे कि मैं जैसा कहता हूं, वैसा ही करती जाओ, क्योंकि मैं डायरेक्टर हूं. वह सिर्फ शोषण था. आखिर मैंने फिल्म छोड़ दी.”

किसी ने मेरा साथ नहीं दिया, नवाज़ुद्दीन ने भी नहीं

Chitrangda Singh


चित्रांगदा ने आगे बताया कि वहां कई लोग थे. नवाज वहां थे, डायरेक्टर ऑफ फोटोग्राफी वहां थीं, एक फीमेल प्रोड्यूसर थीं, लेकिन मेरे लिए कोई खड़ा नहीं हुआ. किसी ने विरोध नहीं किया. उल्टे इसके बाद हुई प्रेस मीट में कहा गया कि अच्छा हुआ उन्होंने फिल्म छोड़ दी. हमें उनसे भी बेहतर रिप्लेसमेंट मिल गया. फिल्म के प्रमोशन के समय नवाजउद्दीन ने कहा कि हमने तो दो बार मजे कर लिए. इसके अलावा भी मुझ पर कई तरह के आरोप लगाए गए कि मैं स्क्रिप्ट में बदलाव करवाना चाहती थी, शूट पर टाइम पे नहीं पहुंचती थी वगैरह वगैरह…”

Chitrangda Singh

बाद में इस फ़िल्म में चित्रांगदा की जगह एक्ट्रेस बिदिता बेग की एंट्री हुई. फ़िल्म में इतने बोल्ड सीन्स थे कि बाद में बहुत सारे कट्स के बाद सेंसर ने इस फ़िल्म को पास किया था. ये बात अलग है कि इतने बोल्डनेस के बावजूद बॉक्स ऑफिस पर ये फ़िल्म उतना कमाल नहीं दिखा पाई थी.

×