ज़ोमैटो विवाद: हितेशा चंद्र...

ज़ोमैटो विवाद: हितेशा चंद्रानी के समर्थन में उतरीं तनुश्री दत्ता, नाना पाटेकर पर लगा चुकी हैं यौन उत्पीड़न का आरोप (Zomato Controversy: Tanushree Dutta Supports Hitesha Chandranee, Actress Had Accused Nana Patekar of Sexual Harassment)

बॉलीवुड एक्टर नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा चुकीं एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ज़ोमैटो विवाद में हितेशा चंद्रानी के समर्थन में आगे आई हैं. एक्ट्रेस ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम पर दो पोस्ट शेयर किए हैं और लंबे-चौड़े पोस्ट के ज़रिए उन्होंने इस विवाद में हितेशा का पूरा सपोर्ट किया है. तनुश्री ने 16 मार्च को अपनी पहली पोस्ट शेयर की, जिसमें उन्होंने ज़ोमैटो डिलीवरी पार्टनर का समर्थन करने वाले सभी लोगों को फटकार लगाई और कहा कि वह यह नहीं समझ पा रही हैं कि लोग कहानी के दूसरे पक्ष की तलाश क्यों कर रहे हैं? एक्ट्रेस ने कहा कि एक शिक्षित शहरी महिला ने फूड का ऑर्डर दिया, जो ब्लीडिंग नोज़ पर आकर खत्म हुआ. इसके साथ ही सवाल किया कि इसके लिए एक और पक्ष क्यों होना चाहिए?

Tanushree Dutta
Photo Credit: Instagram

आगे एक्ट्रेस ने कहा कि महिलाओं पर हमला करने वाले पुरुष तो आरोपों से इनकार ही करेंगे और सहानुभूति कार्ड खेलेंगे. भारतीय न्याय प्रणाली के इतिहास में किसी भी व्यक्ति ने कभी नहीं कहा है कि हां मैंने ऐसा किया है. वे तब भी इनकार करते हैं जब वे जेल में होते हैं, जब वे आजीवन कारावास की सज़ा काट रहे होते हैं.

Tanushree Dutta
Photo Credit: Instagram

तनुश्री ने सवाल किया कि जब हितेशा ने खाना लेने या पैसे देने से इनकार कर दिया, फिर उसे गाली दी और चप्पल से पीटा तो ऐसे में डिलीवरी पार्टनर पुलिस के पास क्यों नहीं गया? आखिर कोई व्यक्ति अपनी नाक को क्यों चोट पहुंचाएगा और पब्लिसिटी के लिए खुद को क्यों नुकसान पहुंचाएगा? अगर हितेशा गलत थी तो ज़ोमैटो उसके मेडिकल बिल का भुगतान क्यों कर रहा है? एक्ट्रेस ने यह भी दावा किया कि 4.5 की रेटिंग कामराज को संत नहीं बनाती है.

एक्ट्रेस यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने अपने पोस्ट में आरोप लगाया कि हो सकता है कि ज़ोमैटो कहानी के दूसरे पक्ष को दिखाने की बात करके हितेशा को डराने की कोशिश कर रहा हो, क्योंकि वो अपने शेयरों के गिरने को लेकर चिंतित हैं, लेकिन यहां दिलचस्प बात तो यह है कि ज़ोमैटो किसी भी शेयर बाजार में लिस्टेड नहीं है. एक्ट्रेस ने आगे आरोप लगाया कि ‘पेड मीडिया’ भी हितेशा के खिलाफ गलत धारणा बना रहा है.

वहीं 17 मार्च को अपने दूसरे पोस्ट में एक्ट्रेस ने कहा कि मैंने कामराज का वीडियो देखा, जिसे देखकर लगा कि वह झूठ बोल रहा है. तनुश्री ने कहा कि एक बच्चा भी वीडियो देखकर बता सकता है कि वह झूठ बोलकर सहानुभूति पाने की कोशिश कर रहा है. एक्ट्रेस ने पुलिस पर उंगली उठाते हुए सवाल किया कि उन्होंने हितेशा के खिलाफ एफआईआर क्यों दर्ज की? पुलिस को शायद ज़ोमैटो से रिश्वत मिली होगी. इसके साथ ही एक्ट्रेस ने महिला आयोग और लॉ मेकर्स पर भी अपना गुस्सा ज़ाहिर किया.

आपको बता दें कि 10 मार्च को इंस्टाग्राम पर हितेशा चंद्रानी ने एक 4 मिनट लंबा वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि एक ज़ोमैटो डिलीवरी बॉय ने उसके साथ कथित तौर पर मारपीट की. महिला का दावा है कि उसके खाने की डिलीवरी में देरी हो गई और जब उसने कस्टमर केयर से बात करने की कोशिश की तो कामराज नाम का डिलीवरी बॉय उसके घर में घुस गया. उसने पैकेट उठाया और उसके साथ मारपीट की. अपनी पोस्ट में महिला ने नाक से बहते हुए खून को दिखाते हुए कहा कि उसे यह चोट रिंग के कारण आई है, जिसे कामराज ने पहना था.

Hitesha Chandranee
Photo Credit: Instagram

इस घटना की सूचना मिलने के बाद बेंगलुरु पुलिस हरकत में आई और हितेशा की शिकायत के आधार पर कामराज को गिरफ्तार किया. उधर, ज़ोमैटो ने एक बयान जारी किया, जिसमें उन्होंने कहा कि वे हितेशा के इलाज का खर्च उठाएंगे. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि वे कानूनी खर्च में कामराज की मदद कर रहे हैं. बयान में ज़ोमैटो ने इस बात पर ज़ोर दिया कि कामराज ने करीब 5 हज़ार डिलीवरी पूरी कर ली और उसकी रेटिंग 4.7 है, जो औसत से ऊपर है.

Zomato Controversy
Photo Credit: Instagram

उधर, कामराज का वीडियो स्टेटमेंट सोशल मीडिया पर जब आया तो उसमें उसने अपना पक्ष बताया. कामराज ने दावा किया कि हितेश ने उसे चप्पल से मारा और उस पर हमला किया. जब उसने खुद को बचाने की कोशिश की तो उसकी उंगली की उंगूठी से हितेशा को चोट लग गई. कामराज ने यह भी कहा कि हितेशा को चोट पहुंचाने का उसका कोई इरादा नहीं था. कामराज का वीडियो वायरल होने के बाद काफी लोग उसके समर्थन में आगे आए और मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की.

Tanushree Dutta
Photo Credit: Instagram

गौरतलब है कि हितेशा के समर्थन में उतरीं तनुश्री दत्ता ने साल 2018 में ‘मी टू मूवमेंट’ के दौरान बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. एक्ट्रेस ने दावा किया था कि साल 2008 में ‘हॉर्न ओके प्लीज़’ के सेट पर नाना पाटेकर ने उनका यौन उत्पीड़न किया था. हालांकि जून 2019 में मुंबई पुलिस ने एक रिपोर्ट दर्ज की, जिसमें कहा गया वे नाना के खिलाफ की गई शिकायत के समर्थन में सबूत नहीं पा सकें, इसलिए वे अपनी जांच को आगे नहीं बढ़ा पा रहे हैं.