10 बॉलीवुड फिल्में, जिनमें कम उम्र के एक्टर्स अधेड़ उम्र का किरदार निभा चुके हैं (10 Bollywood films, Where Actors Played Roles That Were Nowhere Close To Their Real Age)

हाल ही में बहुप्रतिक्षित फिल्म सांड की आंख का ट्रेलर रिलीज़ हुआ. इस फिल्म में तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर ने अधेड़ उम्र की महिला का किरदार निभाया है. फिल्म का ट्रेलर रिलीज़ होते ही वेटेरन एक्ट्रेस नीना गुप्ता ने फिल्म की कास्टिंग पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया कि कम से कम हमारी उम्र के रोल तो हमें दे दो. उन्होंने लिखा कि क्या सांड की आंख में आप इन भूमिकाओं के लिए नीना गुप्ता, शबाना आज़मी और जया बच्चन के बारे में सोच नहीं सकते.  इसके अलावा सोनी राजदान ने भी ट्वीट करते हुए कहा, ‘मैं तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर से प्यार करती हूं, लेकिन ऐसा क्यों? मैं समझती हूं कि बॉक्स ऑफ़िस के बारे में सोचना पड़ता है, लेकिन फिर 60 साल के इंसान की कहानी को बनाना ही क्यों, जब आप असली 60 साल के लोगों को उसमें ले ही ना सको? लेकिन आपको बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि है जब कम उम्र के एक्टर ने बड़ी उम्र का किरदार निभाया हो. ये रहीं वो फ़िल्में जिनमें पहले भी ऐसा हो चुका है.

1. तापसी पन्नू, भूमि पेडनेकर, सांड की आंख

 Taapsee Pannu and Bhumi Pednekar

तापसी और भूमि अपने किरदार बख़ूबी ढल गई हैं, लेकिन इनके इसी किरदार के लिए नीना गुप्ता और सोनी राजदान जैसी अभिनेत्रियों ने सवाल उठाए हैं. ये फ़िल्म हरियाणा की शूटर दादी पर बनी है.

2. ऋतिक रोशन, सुपर 30

Hrithik Roshan

सुपर 30 भी इस लिस्ट में शामिल है. जहां दर्शकों ने साफ़ तौर पर ऋतिक को भाषा के लहज़े के साथ स्ट्रगल करते हुए देखा था. इसके अलावा उनका हुलिया भी काफ़ी हद न्यायपूर्ण नहीं था. उनका किरदार भी ज़बरदस्ती का लग रहा था. इस फ़िल्म में आनंद कुमार के रोल में पंकज त्रिपाठी बखूबी बैठते, लेकिन उफ़्फ़ ये कास्टिंग.

3. श्रद्धा कपूर, हसीना पारकर

Shraddha Kapoor

इसमें श्रद्धा कपूर ने आतंकवादी दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना की भूमिका निभाई थी, जो श्रद्धा की वास्तिवक उम्र से कहीं ज़्यादा की थी.

4. श्री देवी, मूंद्रू मुदिचू

Sridevi

कहानी और किरदारों को क्या सोचकर लिखा और लिया जाता है, वो तो हमें नहीं पता. वैसे घटिया कास्टिंग की कहानी कोई नई नहीं है. इससे पहले भी इस तरह के कई रोल सामने आए थे. अब तमिल फ़िल्म मूंद्रू मुदिचू ही ले लीजिए. इसमें श्रीदेवी ने महज़ 13 साल की उम्र में रजनीकांत की सौतेली मां का किरदार निभाया

5. शेफ़ाली शाह, वक़्त

Shefali Shah

वक़्त में शेफ़ाली शाह ने अक्षय कुमार की मां का रोल निभाया था. उस समय वह 34 साल की थी, जबकि अक्षय की उम्र 39 साल थी. ऐसे में अपनी उम्र से भी बड़े एक्टर की मां का किरदार ज़रा भी गले नहीं उतरता. क्या उस समय कोई ऐसी एक्ट्रेस नहीं थी जो इस रोल में फ़िट हो.

6. अनुपम खेर, सारांश

Anupam Kher

अनुपम खेर का नाम दिग्गज और महान अभिनेताओं में शूमार है. 1984 में आई इस फ़िल्म के समय अनुपम खेर की उम्र महज़ 28 साल थी, तब उन्होंने 64 साल के बूढ़े व्यक्ति का रोल किया था. ये फ़िल्म उनकी उम्दा फ़िल्मों में गिनी जाती है.

7. विवेक ओबेरॉय, पीएम नरेंद्र मोदी

Vivek Oberoi

43 साल के विवेक ने इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का किरदार निभाया था, जिनकी उम्र 69 है. लोगों ने इस रोल के लिए विवेक को ट्विटर पर बहुत ट्रोल भी किया था.

8. अलीगढ़, मनोज वाजपेयी

Manoj Vajpayee

इस फिल्म में मनोज वाजपेयी ने एक प्रोफेसर का किरदार निभाया था, जो उनकी उम्र से 15 साल बड़े थे.

9. सबरजीत, एश्वर्या राय

Aishwarya Rai
इस फिल्म में ऐश्वर्या ने सबरजीत की बहन का किरदार निभाया था, जिनकी उम्र 60 के करीब है. हालांकि ऐश ने इस रोल को बहुत बेहतरीन ढंग से निभाया था, पर इस किरदार को उसी उम्र की कोई आर्टिस्ट निभाती तो ज़्यादा प्रभाव पड़ता.

10. हरामखोर, श्वेता त्रिपाठी

Shweta Tripathi
इस फिल्म  में श्वेता तिवारी ने स्कूल स्टुडेंट का किरदार निभाया था, जबकि उस दौरान उनकी उम्र 32 साल थी.

 सांड की आंख से शुरू हुई इस बहस का मुख्य मुद्दा किसी एक्टर की प्रतिभा पर शक करना नहीं है. इसका मकसद ये बताना है कि जब एक ख़ास उम्र के रोल के लिए टैलेंटेड एक्टर मौजूद हैं, तो फिर स्टार पावर के नाम पर उन्हें नज़रअंदाज़ क्यों किया जाता है. ऐसा नहीं है कि 3 इडियट्स में आमिर खान की मेहनत में कोई कमी थी लेकिन 50 पार कर चुके एक एक्टर को कॉलेज स्टूडेंट दिखाना भी सही नहीं था.