इन 5 वजहों से नहीं सुनते हैं बच्...

इन 5 वजहों से नहीं सुनते हैं बच्चे पैरेंट्स की बात (5 Reasons Why Children Do Not Listen To Their Parents)

अमूमन सभी पैरेंट्स की एक ही समस्या है कि बच्चे हमारी बात बिलकुल भी नहीं सुनते हैं. एक काम को करने के लिए उन्हें कई बार बोलना पड़ता है. उसके बाद भी वे नहीं सुनते हैं और पैरेंट्स के साथ बहस करने लगते हैं. यह स्थिति पैरेंट्स को परेशान  कर देती है. लेकिन कभी पेरेंट्स ने सोचा है की आखिर क्या वजह है बच्चे उनकी बात नहीं सुनते हैं?

1. जब पैरेंट्स बच्चे को बार बार चेतावनियां देते हैं

एक ही बात को कितनी बार बोलना पड़ेगा?, बार-बार 3 तक गिनना, तुम्हें कितनी बार एक ही बात बतानी पड़ती है?, यह लास्ट वार्निंग है? बोलने के काफी नहीं होगा. पैरेंट्स बारबार बहुत ज़्यादा चेतावनियां देते हैं, तो बच्चा आपकी बातों में नहीं आएगा. इतना ही नहीं बार-बार चेतावनी देने पर बच्चा भी समझ जाता है कि आपकी बात कब सुननी है और कब नहीं सुननी है.

2. पैरेंट्स जब बिना मतलब की धमकियां देते हैं

Photo Courtesy: Pexels.com

 ‘अपना सामान संभालो, मैं नहीं उठाउंगी’, ‘कमरा साफ करो नहीं तो तुम बाहर नहीं जाओगे” या फिर “अगर खिलौने नहीं उठाोगे, तो मैं इन्हें फेंक दूंगी ” आजकल पैरेंट्स की इस तरह की धमकियां बेकार हैं. पैरेंट्स परेशान होकर इस तरह की धमकियां बच्चे को देते हैं, लेकिन बच्चे को यह पता रहता है कि आप धमकी दे रहे हैं या या फिर ऐसे ही बोल रहे हैं.

3. पैरेंट्स जब बच्चे के साथ बहस करते हैं

भूलकर भी पैरेंट्स बच्चे के साथ बहस न करें. छोटी छोटी बातों पर बच्चे के साथ बहस करना ठीक नहीं है. जितना पैरेंट्स जितना बहस करेंगे, बच्चा आपकी बात सुनना बंद कर देगा. बच्चे के साथ पावर की लड़ाई लड़ने के बजाय उन्हें ये बताएं कि अगर वे आपकी बात नहीं मानेंगे, तो क्या होगा.

4. पैरेंट्स नतीजों के बारे में नहीं सोचते

Photo Courtesy: freepik.com

जब पैरेंट्स बच्चे के अधिकार छीन लेते हैं, तो बच्चे से लड़ाई करने की बजाय उससे लॉजिकल बात करें, जिससे बच्चा कुछ सीखे. बच्चे को सिखाएं कि आप जो कह रह हैं, वास्तव में वही करेंगे.

5.  जब पैरेंट्स ऊंची आवाज़ में बात करते हैं

जब बच्चा सुनता नहीं है, तोकुछ पैरेंट्स ऊंची आवाज़ में उससे बात करने लगते हैं. लेकिन चिल्लाने से कुछ नहीं होता है. इससे बच्चा आपको और ज़्यादा इग्नोर करना शुरू कर देगा. मारने-डांटने की तरह ऊँची आवाज़ में चिल्लाने से भी बच्चे के साथ पैरेंट्स का रिश्ता बिगड़ सकता है और भविष्य में बच्चा  पैरेंट्स की बात नहीं सुनेगा.

और भी पढ़ें: राशि के अनुसार जानें अपने बच्चे का स्वभाव (Know The Nature Of Your Child According To His Zodiac Signs)

×