राजकुमार राव और दीपिका पादुकोण क...

राजकुमार राव और दीपिका पादुकोण के अभिनय की गहराइयां बहुत कुछ कहती हैं… (Badhai Do- Gehraiyaan: Rajkummar Rao And Deepika Padukone’s Superb Perfotmance…)

जब से राजकुमार राव और भूमि पेडनेकर अभिनीत ‘बधाई दो’ और दीपिका पादुकोण व सिद्धांत चतुर्वेदी की बोल्ड लव केमेस्ट्री बेस ‘गहराइयां’ रिलीज़ हुई हैं, तब से इन कलाकारों के अभिनय को लेकर भी बहुत सारी बातें हो रही हैं.
पहली बार गे और लेस्बियन यानी समलैंगिकता पर फिल्म में खुलकर बात की गई है, पर कुछ अलग ढंग से. बधाई दो फिल्म में राजकुमार राव और भूमि पेडनेकर ने होमोसेक्सुअल विषय पर खुलकर मुखर हुए हैं.

राजकुमार अपने सहज अभिनय और दमदार क्रिया-प्रतिक्रिया से एक अलग ही समा बांध देते हैं. और इस फिल्म में तो उन्होंने अपना बॉडी का भी अच्छा ट्रांसफॉरमेशंस किया है. पहले सीधे-साधे एक आम इंसान की तरह उनके फिल्मों के क़िरदार होते थे और उनका अभिनय. लेकिन बधाई दो में उन्होंने चमत्कारिक रूप से न केवल अपना बॉडी बिल्ड किया है, बल्कि अपने अभिनय को भी ऊंचाइयों तक ले गए हैं.


बधाई दो की कहानी बस इतनी सी है कि राजकुमार राव किसी पुरुष को पसंद करते हैं, गे हैं और भूमि पेडनेकर महिला को यानी वे लेस्बियन हैं. दोनों की उम्र 30 के पार हो चुकी है, परिवार में शादी का दबाव है. तब राजकुमार जो शार्दुल के क़िरदार में है सुमि यानी भूमि के सामने प्रस्ताव रखते हैं लैवेंडर मैरिज का. तात्पर्य दोनों शादी करके अपने-अपने तरीक़े से अपनी ज़िंदगी जीएं यानी वे जिसे चाहते हैं उसके साथ अपने तरीक़े से रह सकते हैं. विदेशों में इसे लैवेंडर मैरिज कहा जाता है, जो वहां काफ़ी चलन में है. लेकिन ऐसे रिश्ते को लेकर समाज, परिवार, दोस्त सभी के साथ तालमेल बैठाना कितना मुश्किल है यही बताने की कोशिश की है निर्देशक हर्षवर्धन कुलकर्णी ने. फिल्म में राजकुमार और भूमि अभिनय के शिखर पर हैं, तो अन्य कलाकारों सीमा पाहवा, चुम दरांग, शीबा चड्ढा, लवलीन मिश्रा, नितीश पांडे, शशि भूषण जैसे कलाकारों ने उनका अच्छा साथ दिया है.

यह भी पढ़ें: ‘आज हमारी 23वीं वेडिंग एनीवर्सरी होती…’ वैलेंटाइन डे पर पति राज कौशल को याद कर भावुक हुईं मंदिरा बेदी, टूटे दिल के साथ शेयर किया इमोशनल नोट और शादी की तस्वीरें (‘It Would Have Been Our 23rd Wedding Anniversary Today’ Mandira Bedi Remembers Her Late Husband Raj Kaushal On Valentine’s Day, Shares Emotional Post)


राजकुमार राव की अभिनय की गहराइयां इस फिल्म में बहुत कुछ बयां भी करती हैं. पहली बार अलग अंदाज़ में नज़र आए यानी वे महिलाओं के थाने के एकमात्र पुरुष इंस्पेक्टर बने हैं फिल्म में, जो काफ़ी दिलचस्प है और उसे बेहतर ढंग से उन्होंने निभाया भी है.


बात करें दीपिका पादुकोण के अभिनय की, तो गहराइयां फिल्म के ज़रिए उन्होंने इसे और भी निखारा-संवारा है. पूरे फिल्म की जान है दीपिका. गहराइयां बयां करती है आज की जनरेशन के लाइफस्टाइल, प्यार और युवा के उस कंफ्यूजन को कि वह ख़ुद नहीं समझ पा रहा कि उसे क्या चाहिए… और वह प्यार की किस गहराइयों की चाह रखता है… दीपिका पादुकोण जो एक योग इंस्ट्रक्टर अलीशा के क़िरदार में अपने अभिनय की गहराइयों से लोगों को रू-ब-रू कराती हैं. उनकी भाव-भंगिमाएं और कई बार तो ख़ामोश नज़रें भी बहुत कुछ बयां कर जाती हैं. कह सकते हैं दीपिका के ज़बरदस्त अभिनय के कारण फिल्म लाजवाब बन सकी है. वैसे सिद्धांत चतुर्वेदी, अनन्या पांडे और धैर्य कारवा ने भी उनका अच्छा साथ दिया.


गहराइयां फिल्म के निर्देशक शकुन बत्रा ने इसमें रिश्तों की उलझनों को काफ़ी उलझे हुए ढंग से दिखाया है, जिसे समझने की कोशिश दर्शकों को करनी है. इसमें कोई दो राय नहीं कि फिल्म साल 2005 में आई वुडी ऐलन की साइकोलॉजिकल थ्र‍िलर ‘मैच पॉइंट’ से प्रभावित है. फिल्‍म में इंटीमेसी न केवल दिखाया गया है, बल्‍क‍ि इसे इस तरह पर्दे पर रखा है कि आप उसमें शारीरिक प्यार से अध‍िक गहराई ढूंढ़ते हैं.


गहराइयां की कहानी कुछ ऐसी है कि दीपिका की चचेरी बहन अनन्या है और अनन्या के मंगेतर सिद्धांत है. दीपिका धैर्य के साथ लिव इन में रह रही हैं. लेकिन जब चारों की मुलाक़ात होती है, तब एक मोड़ पर दीपिका और सिद्धांत क़रीब आ जाते हैं. दोनों के काफ़ी अंतरंग सीन्स भी हैं. दीपिका मां बननेवाली है, फिर चारों के रिश्तों में कितनी लहरें उठती हैं और चारों की ज़िंदगियां कितनी उलझती चली जाती हैं, इसे जानने-समझने के लिए फिल्म ही देखनी पड़ेगी.


काफ़ी समय के बाद कुछ बोल्ड, कुछ अलग और कुछ उलझनों से भरी दो फिल्में रिलीज़ हुई हैं- बधाई दो और गहराइयां. जो अपने-अपने ढंग से ख़ुद को सटीक और बेहतरीन बताने की कोशिश करती हैं और उसमें कुछ हद तक कामयाबी भी रहती हैं.
इन सब बातों से परे राजकुमार राव एक बार फिर अपने ज़बरदस्त परफॉर्मेंस से लोगों का दिल जीत लेते हैं. उनका अभिनय, डायलॉग, बॉडी ट्रांसफॉर्मेंशंस सब कुछ दर्शकों को बांधे रखता है, वहीं दीपिका पादुकोण को कह सकते कि वह जहाज की कप्तान हैं. पूरी फिल्म अपने कंधे पर उठाकर चलती हैं. और गहराइयां में उनके सरल, सहज और गहराइयों से भरी हुई एक्टिंग को देख सकते हैं.. वैसे भी उनके फैंस उनकी इस परफॉर्मेंस के दीवाने हो गए हैं…


दीपिका पादुकोण और राजकुमार दोनों ही अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपनी फिल्म का जमकर प्रमोशन तो करते ही रहे थे, लेकिन रिलीज़ के बाद उनका और भी प्रमोशन का अलग अंदाज़ लोगों को काफ़ी आकर्षित कर रहा है.

यह भी पढ़ें: आज भी मुंबई की बाढ़ के उस खौफनाक मंज़र को याद कर सहम जाती हैं दीपिका पादुकोण, जब अपने घर नहीं पहुंच पाई थीं एक्ट्रेस (Deepika Padukone Gets Shocked Even Today When She Remembers Dreadful Scene of Floods in Mumbai)

Photo Courtesy: Instagram

×