प्रो़फेशनल लाइफ में कैसे बनें इमोशनली स्ट्रॉन्ग? (How to Become a Professional Life Emotionally Strong?)

Professional Life, Emotionally Strongप्रो़फेानल लाइफ में सफल होने के लिए आप जी जान से मेहनत तो करते हैं, लेकिन अपने ग़ुस्से व खीझ पर काबू नहीं रख पाते और यही ग़ुस्सा आपकी सफलता की राह में रोड़ा बन जाता है, प्रो़फेशनल लाइज़ में क़ामयाबी पाने के लिए काम के साथ ही अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना भी ज़रूरी है.

Professional Life, Emotionally Strongआप अपने काम के प्रति बहुत ही संजीदा है और अपना काम पूरी ईमानदारी से करते हैं, बावजूद इसके कई सालों से आपको प्रमोशन नहीं मिला है. ऐसा क्यों हो रहा है. क्या आपने कभी इसकी वजह जानने की कोशिश की है? यदि नहीं, तो ज़रा अपने व्यवहार पर ग़ौर फरमाइश. कहीं आपका व्यवहार इसकी वजह तो नहीं है.

दरअसल, कुछ लोग बहुत संवेदनशील होते हैं और कुछ अपनी भावनाएं छुपा नहीं पाते. दुखी होने पर तुरंत उनकी आंखों में आंसू आ जाते हैं और ख़ुश होने पर वे अति उत्साहित हो जाते हैं. घर पर ऐसा व्यवहार चल जाता है, पर ऑफिस में यह आपकी तऱक्क़ी की राह में रोड़ा बना सकता है. अत: अच्छा प्रोफेशनल बनने के लिए अपनी भावनाओं पर नियत्रंण रखना सीखें. आपकी इस कोशिश में हमारे बताए टिप्स आपके बहुत काम आएंगे.

– अपनी कमियों को पहचानने की कोशिश करें और उन्हें अपनी डायरी पर नोट करें. साथ ही उन स्थितियों को भी याद रखने की कोशिश करें जब आप अपनी भावनाओं पर काबू नहीं रख पाते.

– जब आपको ज़्यादा ग़ुस्सा आता है या जोश में आप ऊंची आवाज़ मे ंबात करने लगते हैं, तब सजग होकर अपनी भावनाओं पर नियत्रंण रखने की कोशिश करें. शुरू-शुरू में यह काम थोड़ा मुश्किल लगेगा, लेकिन धीरे-धीरे आपको इसकी आदत प़ड़ जाएगी.

– आपके ऑफिस में कुछ ऐसे लोग ज़रूर होंगे, जो आपको पसंद नहीं करते होंगे, लेकिन ऐसे लोगों के साथ भी अच्छे रिश्ते बनाना ज़रूरी है. हां, उनसे काम के संबंध में ही बातचीत करें, अपनी नफ़रत या नापसंद को अपने व्यवहार में हावी न होेने दें.

– अपने बॉस की पर्सनैलिटी और साइकोलॉजी को भी समझने की कोशिश करें और उसी के अनुसार व्यवहार करें. ङ्गबॉस इज़ आलवेज़ राइटफ इस वाक्य को हमेशा याद रखें और किसी भी मुद्दे पर बहस करने से बचें.

– अगर आपकी किसी बात से बॉस या कलीग असहमत हैं, तो भी नाराज़ होने की ज़रूरत नहीं है, तब भी उनसे विनम्र होकर ही बात करें.

और भी पढ़ें: कैसे हैंडल करें झगड़ालू कलीग्स को?

– अगर किसी कलीग के बुरे बर्ताव पर आपको ग़ुस्सा आए, तो तुरंत कोई प्रतिक्रिया न दें. बाद में विनम्रतापूर्वक उसे उसकी ग़लती का एहसास कराएं.

Professional Life, Emotionally Strong– अगर आप वर्किंग वुमन हैं, तो आपके लिए अपनी भावनाओं पर नियत्रंण रखना और भी ज़रूरी है, क्योंकि आपकी घरेलु परेशानियों की वजह से ऑफिस का काम प्रभावित हो सकता है.

– महिलाएं बहुत भावुक होती हैं और छोटी-छोटी बात पर भी तुरंत रोने लगती है. यदि आप भी ऐसा करती हैं, आपकी ये आदत आपके करियर के लिए नुक़सानदेह साबित हो सकती है. अत: ऑफिस में यदि बॉस की फटकार या सहयोगी के दुर्व्यवहार से आपको ठेस पहुंचे, तो अपनी भावनाओं पर नियत्रंण रखें. क्योंकि दुखी होकर यदि आप सबके सामने रोने लगेंगी, तो इससे ऑफिस में आपकी छवि ख़राब होगी.

– हमेशा पॉज़िटिव अप्रोच रखें और प्रोफेशनल बातों को दिल पर न लें. इससे आप टेंशन फ्री रहेंगे.

और भी पढ़ें: कैसे रहें ऑफिस में स्ट्रेस फ्री?

[amazon_link asins=’B01EYN3BP4,B074QQ7FM1,B01N0388QB,B01LWJ12MJ’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’944dc5ae-b887-11e7-97be-2f6c0162dbd2′]