प्यूबिक हेयर से जुड़े 7 मिथ्स को करें दूर (7 Pubic Hair Myths You Need To Stop Believing )

मिथ- प्यूबिक हेयर एसटीडी यानी सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ से बचाते हैं.
Pubic Hair Myths You Need To Stop Believing
सच्चाई- ऐसा बिल्कुल नहीं है. इसके ठीक उलट प्यूबिक हेयर से बैक्टीरिया के पैदा होने का ख़तरा रहता है. इसमें जीवाणु और बैक्टीरिया होते हैं, जो यौन संबंधी समस्याएं पैदा कर सकते हैं. बहुत से लोग ऐसा मानते हैं कि प्यूबिक हेयर उन्हें स्किन टु स्किन कॉन्टैक्ट से होने वाले इंफेक्शन से बचाता है, लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है. प्यूबिक हेयर वायरस को और बढ़ा सकता है. एक स्टडी में पाया गया है कि पुरुषों के प्यूबिक हेयर से उनकी महिला पार्टनर को एचपीवी से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं.

मिथ- प्यूबिक हेयर की वजह से सेक्स को एंजॉय नहीं कर पाते हैं.
सच्चाई- यह फीलिंग हर किसी में अलग-अलग हो सकती है. कुछ लोगों को लगता है कि ये सेक्सटाइम को थोड़ा स्मूद बना देता है. जबकि कुछ महिलाएं हेयर के बिना सेक्स को ज़्यादा एंजॉय करती हैं.

मिथ- प्यूबिक हेयर को शेव करने से बाल कड़क आते हैं.
सच्चाई- ऐसा कुछ भी नहीं है. शेविंग का बालों के कड़क होने और उनकी ग्रोथ से कुछ लेना-देना नहीं है.

ये भी पढ़ेंः पर्सनल प्रॉब्लम्स: वेजाइनल डिस्चार्ज के साथ होनेवाली खुजली कहीं एसटीडी तो नहीं?

मिथ- प्यूबिक हेयर को हटाने का सबसे अच्छा तरीक़ा शेविंग है.
सच्चाई- वैक्स करवाएं या शेव करें, ये आप पर निर्भर करता है. लेकिन एक बात का ध्यान रखें कि प्यूबिक हेयर को रिमूव करते समय उस जगह किसी प्रकार का कोई कट न लग जाए.

मिथ- अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो शेव न करें.
सच्चाई- अगर आपकी स्किन सेेंसिटिव है, तो शेविंग करते समय बस आपको इस बात का ख़्याल रखना है कि रेज़र को आप स्किन पर बहुत ज़्यादा ज़ोर से या रगड़कर इस्तेमाल न करें. बिना शेविंग क्रीम के शेव करने से स्किन पर कट लग सकता है. इससे बेहतर होगा कि आप वैक्सिंग या हेयर रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल करें.

मिथ- प्यूबिक हेयर की ग्रोथ रुकती नहीं है.
सच्चाई- प्यूबिक हेयर की ग्रोथ एक समय के बाद रुक जाती है. जब हेयर की ग्रोथ पूरी हो जाती है, तो वो रुक जाती है और बाल झड़ने लगते हैं. झड़े हुए बालों की जगह पर नए बाल आने लगते हैं.
ध्यान रखें कि अगर  बालों  को  निकालने  के  लिए रेज़र का इस्तेमाल  कर  रहे  हैं,  तो रेज़र का इस्तेमाल 2-3 बार से ज़्यादा न करें. अच्छी क्वालिटी के रेज़र का इस्तेमाल करें. हेयर रिमूविंग क्रीम का इस्तेमाल करने से पहले इस बात की जांच कर लें कि कहीं आपको उस क्रीम से कोई एलर्जी तो नहीं है. बॉक्स पर लिखे इंस्ट्रक्शन्स को पढ़ लें. सलोन में जाकर बिकिनी वैक्स भी कराया जा सकता है. घर पर बिकिनी वैक्स ट्राई न करें.

ये भी पढ़ेंः जानें लेंस इस्तेमाल करने का सही तरीक़ा व नियम

मिथ- सिर के बालों का रंग और प्यूबिक हेयर का रंग एक जैसा होता है.
सच्चाई- ये बिल्कुल सच नहीं है. ऐसा ज़रूरी नहीं कि जो रंग आपके सिर के बालों का हो, वो रंग प्यूबिक हेयर का भी हो. बालों के रंग का सीधा संबंध मेलनिन से होता है. प्यूबिक हेयर का रंग ज़्यादा डार्क इसलिए होता है, क्योंकि प्यूबिक हेयर में ज़्यादा मेलनिन पाया जाता है.