सुशांत सिंह राजपूत के 50 सप...

सुशांत सिंह राजपूत के 50 सपने जो अधूरे रह गए, फैंस के साथ शेयर की थी अपनी ‘विश लिस्ट’ (Sushant Singh Rajput Had Shared A List Of ’50 Dreams’ With His Fans And It was truly special)

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत अब हमारे बीच नहीं हैं… आंखों में ढेरों सपने, मन में उम्मीदें और चेहरे पर हर वक्त रहनेवाली मनमोहक मुस्कुराहट… पर असल जिंदगी में भी एक्टिंग में इतने माहिर निकले सुशांत कि उनकी इस मुस्कुराहट के पीछे की उदासी, उनकी सपनों से भरी आंखों में छिपी खामोशी कोई देख पाया और ये हंसता मुस्कुराता चेहरा सब कुछ छोड़कर दुनिया से रुखसत हो गया.

Sushant Singh Rajput

एक छोटे से शहर का लड़का.. पहले टेलीविज़न पर कामयाबी हासिल की, फिर टीवी से बॉलीवुड स्टार बन गया…. नाम, शोहरत, दौलत… सिर्फ 34 साल की उम्र में इतना सब कुछ तो हासिल था सुशांत को, जिसे देखकर तो अंदाजा लगता था कि उसके सभी सपने पूरे हो गए, लेकिन सुशांत के बहुत से सपने अधूरे रह गए. जी हां सुशांत ने पिछले साल सितंबर में ट्विटर पर एक के बाद एक छह ट्वीट करते हुए अपने 50 सपनों के बारे में बताया था. इनमें से कुछ सपने तो उन्होंने पूरे कर लिए थे, पर कई सपने अधूरे ही रह गए.

Sushant Singh Rajput

14 सितंबर 2019 को ट्विटर पर अपनी एक पोस्ट में सुशांत ने अपने 50 सपनों की विशलिस्ट शेयर की थी. उन्होंने इसके साथ कैप्शन में लिखा था, ‘MY 50 DREAMS & COUNTING! 123…’ ‘मेरे 50 सपने और गिनती जारी है…’ उनके सपनों की लिस्ट इतनी लंबी थी कि उन्हें समेटने के लिए उन्हें उसे 6 पन्नों में शेयर करना पड़ा. और उनके सपने भी कोई आम सपने नहीं थे, ना ही उन्होंने किसी बड़े बैनर के साथ फ़िल्म करने का ख्वाब देखा था, ना उनका कोई ड्रीम रोल था… वो असाधारण सपने देखते थे, ज़िंदगी को पूरेपन के साथ जीने के सपने देखते थे. ये और बात है कि उन्होंने पूरी ज़िंदगी ही नहीं जी और सिर्फ 34 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया. आप भी देखें उनके सपनों की उड़ान क्या थी.

क्या थे सुशांत के अधूरे सपने?

पहला ट्वीट


1. हवाई जहाज उड़ाना सीखना.

2. आयरनमैन ट्राएथलॉन के लिए तैयारी करना.

3. बाएं हाथ से क्रिकेट मैच खेलना.

4. मोर्स कोड सीखना.

5. बच्चों को स्पेस के बारे में सीखने में मदद करना.

6. टेनिस के चैंपियन के साथ मैच खेलना.

7. फोर क्लैप पुशअप्स करना.

दूसरा ट्वीट

8. एक हफ्ते तक चन्द्रमा, मंगल, बृहस्पति और शनि ग्रह को उनकी कक्षा में घूमते हुए मॉनिटर करना.

9. सपना ब्लू होल में गोता लगाना.

10. डबल स्लिट एक्सपेरिमेंट को एक बार करके देखना.

11. हजार पेड़ लगाना.

12. डेल्ही कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग के हॉस्टल में एक शाम बिताना.

13. 100 बच्चों को इसरो या नासा में वर्कशॉप के लिए भेजना.

14. कैलाश में मेडिटेशन करना.

तीसरा ट्वीट

15. चैंपियन के साथ पोकर खेलना.

16. किताब लिखना.

17. सर्न की लैब देखने जाना.

18. ध्रुवीय रोशनी को देखते हुए पेंट करना.

19. नासा का एक और वर्कशॉप अटेंड करना.

20. छह महीने के भीतर सिक्स पैक एब्स बनाना.

21. सेनोटेस में तैराकी करना.

22. जो लोग नहीं देख सकते उन्हें कोडिंग सिखाना.

23. जंगल में एक सप्ताह गुजारना.

24. वैदिक ज्योतिषशास्त्र को समझना.

25. डिज्नीलैंड देखना.

चौथा ट्वीट

26. लीगो की लैब देखने जाना.

27. एक घोड़ा पालना.

28. दस तरह के डांस फॉर्म सीखना.

29. फ्री एजुकेशन के लिए काम करना.

30. एंड्रोमेडा गैलेक्सी को एक विशाल टेलीस्कोप से देखना और उसका अध्ययन करना.

31. क्रिया योग सीखना.

32. अंटार्कटिका घूमने जाना.

33. महिलाओं की स्वरक्षा की ट्रेनिंग के लिए मदद करना.

34. एक सक्रिय ज्वालामुखी को कैमरे में कैद करना.

पांचवां ट्वीट

35. खेती सीखना.

36. बच्चों को डांस सिखाना.

37. दोनों हाथों से एक समान तीरंदाजी करना.

38. रेसनिक-हेलिडे की मशहूर भौतिकी की किताब को पूरा पढ़ना.

39. पॉलिनेसियन एस्ट्रोनॉमी को समझना.

40. अपने मशहूर पचास गानों को गिटार पर बजाना सीखना.

41. चैंपियन के साथ शतरंज की बिसात पर बैठना.

42. लैंबर्गिनी खरीदना.

छठवां ट्वीट

43. वियना के सेंट स्टिफन कैथेड्रेल जाना.

44. विजिबल साउंड और वाइब्रेशन के प्रयोग करना.

45. इंडियन डिफेंस फोर्सेस के लिए बच्चों को तैयार करना.

46. स्वामी विवेकानंद पर एक डॉक्यूमेंट्री बनाना.

47. सर्फ बोर्ड पर लहरों से खेलना.

48. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करना.

49. ब्राजील का डांस और मार्शल आर्ट फॉर्म सीखना.

50. उनका आखिरी सपना था ट्रेन में बैठकर पूरा यूरोप घूमना.

Sushant Singh Rajput

सुशांत सिर्फ ख्वाब देखते भर नहीं थे, अपने हर ख्वाब को पूरा करना का जोश और जज़्बा था उनमें… लेकिन पता नहीं क्यों, कब और कैसे उन्होंने जीने का जज़्बा ही खो दिया और अपने सारे सपने अधूरे छोड़ इस दुनिया से विदा ले लिया… अपनी अधूरे सपनों को अधूरा ही छोड़ गए…