जब लता मंगेशकर को मिला था शादी म...

जब लता मंगेशकर को मिला था शादी में गाने का ऑफर, उनका जवाब सुन आपका दिल खुश हो जाएगा (When Lata Mangeshkar Got The Offer To Sing At The Wedding, Your Heart Will Be Happy To Hear Her Answer)

हाल ही में लता दीनानाथ मंगेशकर अवॉर्ड सेरेमनी का आयोजन हुआ था. इस दौरान आशा भोसले ने स्वर कोकिला से जुड़ा एक किस्सा सुनाया, जिसे सुनकर लोगों के दिल में उनके लिए इज्जत और भी ज्यादा बढ़ जाती है. वो जितनी मशहूर अपनी खूबसूरत आवाज को लेकर थी, उनके सिद्धांतों की भी उतनी ही ज्यादा चर्चा होती थी. एक बार उन्हें किसी शादी में गाने का ऑफर मिला था, लेकिन उन्होंने उस ऑफर देने वाले को जो जवाब दिया, वो हर किसी का दिल जीत लेता है.

गौरतलब है कि इसी साल कोरोना और अन्य हेल्थ परेशानियों की वजह से फरवरी में लता मंगेशकर का निधन हो गया था. अब हाल ही में आशा जी ने बताया कि, “हम दोनों को किसी ने शादी में इनवाइट किया था. उनके पास कई लाख या डॉलर के टिकट थे. उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि शादी में आशा भोसले और लता मंगेशकर गाना गाएं. दीदी ने मुझसे पूछा कि क्या तुम शादी में गाओगी? तो मैंने कहा कि नहीं मैं नहीं गाऊंगी. तब दीदी ने उनलोगों के प्रतिनिधि से कह दिया कि हम नहीं गाएंगे. 10 करोड़ डॉलर भी दोगे तब भी हम नहीं गाएंगे क्योंकि हम शादियों में गाना नहीं गाते. उस आदमी को तब बहुत बुरा लगा था.”

ये भी पढ़ें: लता मंगेशकर ने जाते-जाते आशा भोसले को दी ऐसी दौलत, देखर दंग रह जाएंगे आप (Before Death, Lata Mangeshkar Gave Such Wealth To Asha Bhosle, You Will Be Stunned To See)

इसके अलावा और भी कई किस्से आशा जी ने शेयर किए , जिनमें से एक ये भी था कि एक बार बचपन में लता दीदी ने मां-पापा के पैर धोकर पानी पीने के लिए कहा था. आशा जी कहती हैं कि तब उन्होंने और लता दीदी ने वो पानी पिया था और आज तक उससे मिला आशीर्वाद उनके साथ है. आशा जी ने ये भी बताया कि एक बार दीदी को 104 डिग्री बुखार था, उसके बाद भी उन्होंने काम किया था.

ये भी पढ़ें: आशा भोसले की ज़िंदगी से जुड़ी ये रोचक बातें नहीं जानते होंगे आप (You Might Not Know These Interesting Things Related To The Life Of Asha Bhosle)

करीब 6 दशक से भी ज्यादा वक्त तक अपनी मनमोहक आवाज से दुनिया भर के लोगों के दिलों पर राज करने वाली लता मंगेशकर ने 36 से भी ज्यादा भाषाओं में गाने गाए. इसी साल उन्हें जनवरी के महीने में हॉस्पीटल में एडमिट कराया गया था. बीच में उनकी तबियत में थोड़ा सुधार भी हुआ था, लेकिन फिर तबियत ज्यादा खराब हो गई. डॉक्टरों के अनुसार लता मंगेशकर को निमोनिया और कोरोना हुआ था, जिसकी वजह से उनका देहांत हो गया.

ये भी पढ़ें: लता मंगेशकर से जुड़ी ये बातें नहीं जानते होंगे आप (You Would Not Know These Things Related To Lata Mangeshkar)

×