Family Drama

कहानी- दोहरा व्यक्तित्व (Short Story- Dohra Vyaktitav)

“वह मेरा बेटा है, ज़ाहिर है मुझ पर गया है.” राम शरारत से मुस्कुराये और चलते बने. राम की यही ...

कहानी- राह वही, सोच नई (Story- Raah Wahi, Soch Nayi)

“जानता हूं, मुझे इतना आशावादी नहीं होना चाहिए, लेकिन बेटा, जिन परिस्थितियों से मैं गुज़र रहा ...

कहानी- लाइफ बाई चॉइस बनाम बाई डिफॉल्ट (Short Story- Life By Choice Banam By Default)

दरअसल, समस्या व़क्त की नहीं है, न ही उम्र की है. समस्या है अपने भीतर पैदा हुए नश्‍वरता के एहसास ...

कहानी- होली की गुझिया (Short Story- Holi Ki Gujhiya)

क़रीब 10 बजे गाड़ी के हॉर्न की आवाज़ पर वह बाहर आई, तो “हैप्पी होली” के समवेत स्वर के साथ सास-ससुर आते ...

Hindi Short Story

कहानी- पगलिया (Hindi Short Story- Pagliya)

“मैं अपनी कोख में नन्हीं-सी जान को लेकर घर से निकली, तो जानती थी कि मुझे अपनी और अपनी बच्ची के ...

कहानी- मोनालिसा (Short Story- Monalisa)

अचानक मुझे मम्मी के चेहरे में मोनालिसा के चेहरे का प्रतिबिंब दिखाई दिया. जैसे उनके चेहरे पर भी ...

कहानी- एम्पटी नेस्ट सिंड्रोम (Story- Empty Nest Syndrome)

“जीवन, बस कुछ रिश्तों तक सीमित नहीं होता कि उनके दूर हो जाने से सब ख़त्म हो जाए. जीवन बहुत ...

कहानी- आस्था और विश्‍वास (Short Story- Aastha Aur Vishwas)

प्रांजलि की आस्था और विश्‍वास की चमक के आगे मेरा चेहरा निस्तेज पड़ गया. एक ही मां की बेटियां ...

कहानी- उमंगों का आशियाना (Short Story- Umango Ka Aashiyana)

कावेरीजी ने जिस नज़र से अपने बेटे को देखा, लग रहा था जैसे आज वे कोई पुराना हिसाब चुकता कर रही हों. ...

कहानी- क़िस्मतवाली (Short Story- Kismatwali)

“मेरे पति स़िर्फ मेरे प्रति पूर्ण समर्पित हैं, ये ख़्याल मुझे आभासी ख़ुशी देता है, मेरे होंठों पर ...

कहानी- चली-चली रे पतंग (Short Story- Chali-Chali Re Patang)

‘अब जब सब चैन से हैं, तो लोगों को क्यों दर्द हो रहा है? कभी हवाहवाई, तो कभी चली-चली रे पतंग देखो… ...

कहानी- जीत गई ज़िंदगी (Short Story- Jeet Gayi Zindagi)

इस अंतिम अस्पताल में वह यंत्रवत घुसा. निराशा से चारों ओर नज़र दौड़ायी, पर असफल रहा. वापस जाते ...

1 2 3 4 5 6 18