फिल्म रिव्यूः ‘ड्रीम गर्ल’ और सेक्शन 375′ (film Review Of ‘Dream Girl’ And ‘Scetion 375’)

फिल्मः ड्रीम गर्ल
कलाकारः आयुष्मान खुराना, अन्नू कपूर, नुसरत भरुचा
रेटिंगः 3 

ड्रीम गर्ल की कहानी करमवीर सिंह यानी आयुष्मान खुराना की है. आयुष्मान खुराना राम लीला में सीता का किरदार निभाते हैं और उनके पिता अन्नू कपूर पर लोन का बोझ है. करणवीर का दोस्त है स्माइली यानी मंजोत सिंह. एक दिन अचानक करमवीर को एक ऐड दिखता है, और वह नौकरी के लिए पहुंच जाता है. अब यहां करमवीर को मजबूरन पूजा बनना पड़ता है, और पूजा उस गुप्त फ्रेंडशिप कॉल सेंटर की जान बन जाती है. पूजा के आशिकों की तादाद बढ़ती ही जाती है और यहीं परेशानी भी शुरू होती है. करमवीर की मुलाकात माही यानी नुसरत भरुचा से होती है और झट मुलाकात तो पट इश्क हो जाता है. वहीं पूजा के प्रेमियों की लिस्ट में माही का भाई महिंदर, शायर पुलिस वाला, एडिटर रोमा, देसी जस्टिन बीबर टोटो और करमवीर के पिता जगजीत शामिल हो चुके होते हैं. इसके बाद शुरू होती है, मजेदार कॉमेडी.

Dream Girl

एक्टिंगः फिल्म का प्लस पॉइंट है इसमें की गई एक्टिंग. आयुष्मान खुराना फिल्म के हीरो हैं और अगर मैं कहूं कि ये आयुष्मान खुराना का शो है तो गलत नहीं होगा. आयुष्मान ने अपने किरदार और आवाज कर जो पकड़ बनाई है वो तारीफ के लायक है. ये फिल्म एक और उदाहरण है कि आयुष्मान कितने टैलेंटेड आर्टिस्ट हैं. फिल्म में उनकी एक्टिंग, कॉमेडी, डांस सब अच्छा है. करम (आयुष्मान) के पिता बने अन्नू कपूर का काम अच्छा है. नुसरत भरूचा को स्क्रीन पर बहुत ज्यादा मौका नहीं मिला है, इसके बावजूद उन्होंने अच्छा काम किया है. अन्य भूमिकाओं में अभिषेक बनर्जी, निधि बिष्ट, राज भंसाली और दादी बनी सीनियार अभिनेत्री ने अच्छा काम किया है.

निर्देशनः पहली बार निर्देशन की बागडोर संभालनेवाले राज शांडिल्य ने साफ-सुथरी कॉमिडी दी है. जाने-माने लेखक होने के नाते उन्होंने कहानी में हास्य और मनोरंजन के पल जुटाए हैं. ‘ड्रीम गर्ल में तीन गाने आते हैं, और वह हंसते-खेलते निकल जाते हैं. फिल्म में यूथ कनेक्ट भी है, और सेल्फी कल्चर की वजह से बढ़ते अकेलेपन को भी निशाना बनाया गया है.

फिल्मः सेक्शन 375
कलाकारः अक्षय खन्ना, ऋचा चड्ढा, मीरा चोपड़ा, राहुल भट्ट
रेटिंगः 3

अक्षय खन्ना की फिल्म सेक्शन 375 की कहानी एक थ्रिलर और सस्पेंस से भरपूर है. फिल्म में एक फिल्म डायरेक्टर पर उसी की फिल्म में काम करने वाली कॉस्ट्यूम डिजाइनर रेप का आरोप लगा देती है. निचली अदालत में केस पहुंचने के बाद डायरेक्टर को दोषी ठहऱाते हुए उसे जेल भेज दिया जाता है. फिर केस हाई कोर्ट में पहुंचता है. जहां अक्षय खन्ना और ऋचा चड्ढा दोनों का आमना – सामना होता है. कोर्ट में ऋचा चड्ढा एक पब्लिक प्रॉसिक्यूटर का रोल प्ले कर रही हैं, जबकि अक्षय खन्ना डिफेंस लॉयर के रोल में नजर आ रही हैं. फिल्म में अक्षय खन्ना और ऋचा चड्ढा समाज के दो अलग – अलग नजरियों को लेकर कोर्ट में लड़ते हुए नजर आएंगे.

Article 375 Movie

एक्टिंगः पूरी फिल्म एक कोर्ट रूम ड्रामा है, लिहाजा लेखन के साथ साथ कलाकारों का अभिनय बहुत ही महत्वपूर्ण पहलू है. कोई दो राय नहीं कि अक्षय खन्ना अपने किरदार में खूब जमे हैं. बतौर वकील उनके चेहरे के हाव भाव आपको कहानी से बांधे रखते हैं. फिल्म में ऋचा चड्ढा अक्षय खन्ना को बराबरी का टक्कर देती दिख रही हैं. मीरा चोपड़ा और राहुल भट्ट भी अपने किरदारों में प्रभावी हैं. जज बने कृतिका देसाई और किशोर कदम संक्षिप्त रोल में मजबूत दिखे हैं.

निर्देशनः फिल्म के निर्देशक अजय बहल ने रेप जैसे सेंसिटिव मामले मामले को बेहद सधे हुए तरीके से उठाया है. निर्देशन ने कहानी के माध्यम से दर्शकों को बांधे रखा है. उन्होंने दोनों पक्षों के विचारों को काफी प्रभावी तरीक़े से पेश किया है. इस फिल्म में निर्देशक ने दर्शकों की दिलचस्पी बढ़ाने के लिए बेफालतू का ड्रामा डालने की कोशिश नहीं की है. यही इस फिल्म की खासियत है.

ये भी पढ़ेंः राखी सावंत अपने पति का चेहरा ‘बिग बॉस 13’ में दिखाएंगी, होंगी पार्टनर के साथ शामिल, देखें वीडियो (Rakhi Sawant To Reveal The Identity Of Her Husband Ritesh On Bigg Boss 13: Watch Video)