फिल्म रिव्यूः जवानी जानेमन ...

फिल्म रिव्यूः जवानी जानेमन (Film Review Of Jawaani Jaaneman)

फिल्मः जवानी जानेमन
कलाकारः सैफ अली खान, अलाया एफ, तब्बू, चंकी पांडे, कुब्रा सेत
निर्देशकः नितिन कक्कड़
स्टारः 3

यह फिल्म 40 वर्षीय प्लेबॉय की कहानी है, जिसकी जिंदगी में तब तूफान आ जाता है, जब उसे पता चलता है कि उसकी 20 साल की बेटी है. यह फिल्म समाज में रिश्तों के बदलते पैमानों की कहानी है, जिसे निर्देशक ने विदेशी पृष्ठभूमि में पेश किया है.

कहानीः जसविंदर उर्फ जैज (सैफ अली खान) एक 40 साल का सिंगल आदमी है जो जिम्मेदारियों से हमेशा भागता रहता है. जैज को पार्टी करना और नई-नई लड़कियों के साथ एंजॉय करना पसंद है. वह अपनी लाइफ को खुलकर जीता है कि तभी उसकी लाइफ में आती है टिया (आलिया फर्नीचरवाला). जैज, आलिया से मिलते ही उससे फ्लर्ट करने की कोशिश करता है कि तभी उसे पता चलता है कि टिया उसी की बेटी है और वह शादी से पहले प्रेग्नेंट है. जिम्मेदारी से भागने वाला जैज टिया से दूर रहने की कोशिश करता है, लेकिन टिया उसे नहीं छोड़ती. अब इसके बाद क्या जैज, टिया को अपनाता है या फिर वह इस जिम्मेदारी से मुंह मोड़ लेगा। इसके लिए आपको फिल्म देखनी होगी.

Jawaani Jaaneman

रिव्यूः फिल्म का असली निचोड़ सेकेंड हाफ में है. इंटरवल के पहले फिल्म की कहानी इधर-उधर डोलती नज़र आती है और उसमें कॉमेडी पर ज़्यादा जोर दिया गया है, पर इंटरवल के बाद हुसैन दलाल की स्क्रिप्ट टाइट हो जाती है.  सिनेमेटोग्राफी बढ़िया है. फिल्म की कहानी अच्छी है, लेकिन कहीं-कहीं कहानी थोड़ी कमजोर लगी. फिल्म के म्यूजिक की बात करें तो फिल्म का समय जितना है, उस हिसाब से गानों को ज्यादा समय नहीं दिया गया, फिल्म का म्यूजिक एवरेज रहा. फिल्म में कुछ मैसेज भी दिए गए हैं जो महत्वपूर्ण है. क्लाईमैक्स प्रेडिक्टिबल लगता है, मगर शुक्र है कि उसमें मेलोड्रामा नजर नहीं आता. किरदार सही-गलत होने के पचड़े में पड़े बगैर कहानी के प्रवाह में बहते नजर आते हैं.

एक्टिंगः आधुनिक व बिंदास पुरुष की भूमिकाओं में सैफ अली खान बहुत नैचुरल दिखते हैं. ऐसे रोल्स उनपर सूट करते हैं. इस फिल्म में जैज के किरदार में वे उभरकर सामने आए है. उनका स्वैग, बॉडी लैंग्वेज, अभिनय, एनर्जी और इमोशन जैज के किरदार को यादगार बनाता है. अलाया एफ ने इस फिल्म के साथ डेब्यू किया है. उन्होंने अपने किरदार व अभिनय से साबित किया है कि उनमें पोटेंशियल है और वे काफी आगे जा सकती हैं. अच्छी बात यह है कि उनके किरदार में किसी तरह का मेलोड्रामा नहीं है, इसलिए वे काफी नैचुरल दिखी हैं. तब्बू को हिप्पी के किरदार में देखना एक अलग अनुभव है, लेकिन फिल्म में उनका रोल बहुत कम है. सैफ की दोस्त रिया के रूप में कुब्रा सेत ने दमदार ऐक्टिंग की है. सहयोगी किरदारों में कुमुद मिश्रा ने अच्छा काम किया है. चंकी पांडे, फरीदा जलाल जैसे कलाकार ठीक-ठाक रहे हैं.

ये भी पढ़ेंः  टाइगर श्रॉफ को डेट करने को लेकर दिशा पाटनी ने दिया चौंकानेवाला बयान (Disha Patani On Dating Tiger Shroff)