#JantaCurfew: 22 मार्च ‘जनता कर्फ्यू’ को लेकर अनुपम खेर का प्रेरणादायी संदेश… (‘Janta Curfew’ 22 March: Anupam Kher- Life Changing Day, Lets Follow Janta Curfew Sincerely And Honestly…)

  • #JantaCurfew: हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने कल जनता कर्फ्यू के तहत देशवासियों को घर पर रहकर एक होकर कोरोना से लड़ने की बात जो कही है, उसी संदर्भ में अभिनेता अनुपम खेर ने भी सभी के लिए प्रेरणादायी संदेश दिया है. उन्होंने सभी को इस जनता कर्फ्यू जो और किसी के लिए नहीं बल्कि जनता द्वारा जनता के लिए ही है को सफल बनाने की अपील की है. यह पूरे दिन का एकांतवास अमृत मंथन जैसा है, जिसमें विष भी निकलेगा.. अमृत भी निकलेगा.. विश्व शुद्धि है.. हम सब को बिल्कुल भी बाहर न निकलकर घर में ही दिनभर रहकर इस नेक कार्य को कामयाब बनाना है. साथ ही सभी को कल रविवार को सुबह सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक एकांत में रहने यानी घर पर ही रहने के आव्हान के साथ-साथ कल यानी 22 मार्च को ही शाम 5 बजे पांच मिनट के लिए उन सभी लोगों का धन्‍यवाद करने की गुजारिश भी की है, जो दिन-रात कोरोना से संक्रमित मरीज़ों की सेवा और सुरक्षा में लगे हैं, जैसे- डॉक्टर, नर्स, कर्मचारी, सरकारी विभाग, पुलिस आदि. वे सभी हमारी रक्षा में अपनी जान की परवाह किए बगैर दिन-रात काम कर रहे हैं. हमें तहेदिल से उन सभी को धन्यवाद कहना है.. उनका शुक्रिया अदा करना है.. यह अपने, घर, समाज, देश के लिए ही नहीं, बल्कि विश्व और पूरी मानव जाति के लिए है. आइए, हम सभी मिलकर विश्व कल्याण के लिए इस जनता कर्फ्यू को सफल बनाएं. सभी अपना और अपनों का ख़याल रखें. इस समय का सदुपयोग करें. ध्यान, प्राणायाम, योग, व्यायाम और आत्मविश्लेषण करें. पौष्टिक, हल्का व शाकाहारी भोजन करें. कुछ मुस्कुराए, कुछ गुनगुनाए.. इस तरह के अनमोल पल बार-बार नहीं आते. हम सभी इसे ख़ास और सार्थक बनाएं. दुनिया के लिए आदर्श व उदाहरण बनें. अनुपम खेर जी के ही शब्दों में सब ठीक हो जाएगा.. मैं एक आशावादी इंसान हूं. मुझे यक़ीन है सब ठीक होगा. ग़म की अंधेरी रात में दिल को बेक़रार ना कर.. सुबह ज़रूर आएगी.. सुबह का इंतज़ार कर …
Anupam kher