करिश्मा कपूर- स्टेटस सिंबल के तौर पर संजय कपूर मुझे इस्तेमाल करना चाहते थे… (Karishma Kapoor- Sanjay Kapoor Wanted To Use Me As A States Symbol…)

करिश्मा कपूर ने अपने पूर्व पति संजय कपूर से अलग होने की वजह बताई, जो बेहद चौंकानेवाली है. उनके अनुसार, संजय उन्हें अपने रौब व स्टेटस सिंबल के तौर पर यूज़ करने की चाहत रखते थे, इसी कारण उन्होंने शादी की. साथ ही उनका कामयाब अभिनेत्री होना भी एक बहुत बड़ी वजह रही.

Karisma Kapoor and Sanjay Kapoor

शादी के शुरुआती दिन ठीक रहे, लेकिन धीरे-धीरे संजय कपूर बात-बेबात करिश्मा से झगड़ते रहते थे. कभी-कभी हाथापाई तक की नौबत आ जाती थी. बकौल करिश्मा दिल्लीवालों पर रौब दिखाने के लिए संजय कपूर उन्हें ट्रॉफी की तरह इस्तेमाल करने की कोशिश करते थे. सफल एक्ट्रेस के साथ शादी करके मैं भी मशहूर और कामयाब हो जाऊंगा… कुछ इस तरह की सोच थी संजय की. यही लालच उन्हें रिश्ते में बांधे हुए थी.

Karisma Kapoor and Sanjay Kapoor

संजय छोटे-मोटे वाद-विवाद, लड़ाई-झगड़े के अलावा करिश्मा कपूर को शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना भी ख़ूब देते थे. बात यहां तक बढ़ गई कि करिश्मा ने संजय के ख़िलाफ़ एफआईआर तक दर्ज़ कराई, क्योंकि वे रोज़-रोज़ के लड़ाई-झगड़े व मारपीट से तंग आ गई थीं. उस पर समायरा और कियान दो बच्चों के परवरिश की चिंता भी उन्हें सताने लगी. आख़िरकार उनकी परेशानियों का अंत तलाक़ के रूप में हुआ.

करिश्मा सिंगल पैरेंटिंग की भूमिका निभाते हुए आज अपने दोनों बच्चों की बेहतरीन परवरिश कर रही हैं. लेकिन अतीत को याद करते हुए आज भी दुखी व घबरा-सी जाती हैं. जहां डिवोर्स होने के बाद करिश्मा ने अपने बच्चों को ही अपनी दुनिया बना ली, वहीं संजय कपूर ने प्रिया सचदेव से शादी कर ली.

Karisma Kapoor and Sanjay Kapoor

ग़ौर करनेवाली बात है कि आज भी अधिकतर महिलाएं अपने बच्चों में ही ख़ुशियां और ज़िंदगी का सूकून ढूंढ़ती हैं, वहीं पुरुष वर्ग एक जीवनसाथी के अलग होने पर जल्द दूसरा साथी तलाश ही लेता है. ये उनकी कमज़ोरी कहें या फिर अकेले न रह पाने की लाचारगी… फिर भी अपवाद कई हैं.

Karisma Kapoor and Sanjay Kapoor

 

करिश्मा की शादी साल 2003 में संजय कपूर से हुई थी. अनके मतभेद व कलह के चलते अंततः सालों बाद करिश्मा ने संजय से अलग होने का कड़ा ़फैसला ले ही लिया. अब इतने समय बाद उन्होंने खुलकर अपने अलग होेने के कारण व दर्द को बयां किया है. रिश्ते यूं ही नहीं बिखरते पल-पल मरने व टूटने के बाद ही कितने एहसास को दरकिनार कर दो लोग अपने रास्ते बदलते हैं. वैसे भी स्वार्थ की बुनियाद पर रिश्ते कम ही टिकते हैं.

यह भी पढ़ेकास्टिंग काउच पर राखी सावंत ने किया चौंकानेवाला खुलासा, डायरेक्टर्स करते थे उल्टी-सीधी डिमांड (Rakhi Sawant Reveals About Casting Couch)