कैसे बने इवेंट मैनेजर? (Career In Event Management)

Career In Event Management

इवेंट चाहे जो हो, लेकिन ग्लैमर, आकर्षण और स्टाइल आज हर इवेंट की पहली मांग है. घर का कोई फंक्शन हो या ऑफिस की पार्टी, शादी का मौसम हो या गेट-टुगेदर, हर इवेंट को सही तरह से ऑर्गेनाइज़ करने का काम करता है इवेंट मैनेजर. आपको भी अगर इस तरह के प्रोग्राम को हैंडल करना अच्छा लगता है, तो आप भी बनाइए अपने इस शौक़ को अपना करियर और बनिए इवेंट मैनेजर. कैसे? आइए जानते हैं.

क्या करते हैं इवेंट मैनेजर?
इवेंट मैनेजर प्रोफेशनल, पर्सनल और फोकस्ड इवेंट्स ओर्गेनाइज़ करते हैं. जिसमें मैरिज सेलिब्रेशन, थीम पार्टीज़, कॉरपोरेट मिटिंग्स, सेमिनार, एग्ज़ीबिशन, फैशन और सेलिब्रिटी शो, म्यूजिकल कॉन्सर्ट, प्रॉडक्ट् लॉन्चिंग, फिल्म अवार्ड फंक्शन आदि शामिल हैं.

शैक्षणिक योग्यताएं
इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बारहवीं पास होना बहुत ज़रूरी है. बारहवीं के बाद आप इस क्षेत्र में आगे की पढ़ाई कर सकते हैं.

क्या हैं कोर्सेस?
– डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट,
– पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट,
– पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट एंड पब्लिक रिलेशन्स.

व्यक्तिगत विशेषताएं
अच्छी कल्पना शक्ति, बेहतर बजटिंग, नॉलेज, ़ज़्यादा समय तक काम करने की क्षमता, परफेक्ट प्लानिंग, गुड कम्युनिकेशन स्किल, प्रेजेंटेशन स्किल, लीडरशीप क्वलिटी, गुड पब्लिक रिलेशनशीप, मार्केटिंग और बिजनेस क्षेत्र की कुशल जानकारी होना बहुत ज़रूरी है.

प्रमुख संस्थान
* अमेठी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इवेंट मैनेजमेंट, न्यू
दिल्ली.
* इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई.
* इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, न्यू दिल्ली.
* इंटरनेशनल सेंटर फ़ॉर इंवेट मैनेजमेंट, न्यू
दिल्ली.
* नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई.
* एकैडमी ऑफ एनिमेशन आर्ट एंड
टेक्नोलॉजी, कोलकाता.
* इंस्टिट्यूट ऑफ़ एज्युकेशनल लीडरशीप,
उत्तरांचल, देहरादून.
* अजमेर इंस्टिट्यूट ऑफ़ मीडिया स्टडीज़,
बरेली.
* एकैडमी ऑफ़ ब्रॉडकास्टिंग, चंडीगढ़.

जॉब प्रॉसपेक्ट्स
इस प्रोफेशन में परफेक्शन की डिमांड होती है.
* इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में आप एक इवेंट मैनेजर या कंसल्टेंट के तौर पर काम कर सकते हैं.
* टेलीविजन शोज़ और एड जगत से जुड़कर उनके प्रॉडक्ट के लिए काम कर सकते हैं.
* अपने अनुभव के मुताबिक आप अपनी ख़ुद की इवेंट मैनेजमेंट कंपनी भी शुरू कर सकते हैं. जिसके लिए जरूरी है.
– सेलिंग स्किल यानी नए क्लाइंट्स को हैंडल करने की क्षमता.
– इवेंट डिज़ाइनिंग की क्रिएटिव स्किल.
– एकाउंटिंग नॉलेज.
– लॉजिस्टिक कंट्रोल करने की कला.
– रिस्क मैनेजमेंट स्किल.

इस क्षेत्र का भविष्य
दिन-ब-दिन हर क्षेत्र और इवेंट से जुड़ता ग्लैमर भविष्य में इवेंट मैनेजमेंट कंपनी की मांग को बड़ाएंगे.

सैलरी
इस क्षेत्र में रेग्युलर मंथली सैलरी के अलावा प्रति इवेंट के हिसाब से भी सैलरी दी जाती है. मैनेजमेंट कोर्स कंपलीट करने के बाद फ्रेशर्स की इंकम 500 से 1,000 रुपए प्रतिदिन होती है. अपने अनुभव और क्रिएटिविटी से आप 8,000 से 10,000 रुपए प्रति इवेंट कमा सकते हैं. इस क्षेत्र में ़ज़्यादा अनुभव से 50,000 से 1 लाख रुपए प्रति इवेंट की इंकम भी होती है.