अक्षय तृतीया का महत्व (Importance Of Akshaya Tritiya)

अक्षय तृतीया

हिंदुओं के लिए आज का दिन किसी पर्व से कम नहीं है. आज के दिन कोई भी शुभ कार्य किया जा सकता है. इसमें किसी पंडित या ज्योतिष से पूछने की ज़रूरत नहीं होती. इसका एक ही कारण है कि ये दिन ही इतना पवित्र है. इस दिन आप सोना, चांदी, घर आदि ख़रीद सकते हैं. घर में पूजा आदि भी इस दिन करना शुभ होता है. आइए, जानते हैं अक्षय तृतीया  से जुड़ी कुछ विशेष बातें.

क्यों मनाते हैं अक्षय तृतीया ?
शास्त्रों के अनुसार अक्षय तृतीया पर्व के दिन स्नान, होम, जप, दान आदि का अनंत फल मिलता है, इसलिए भारतीय संस्कृति में इसका बड़ा महत्व है. माना जाता है कि अक्षय तृतीया के दिन ही पीतांबरा, नर-नारायण, हयग्रीव और परशुराम के अवतार हुए हैं, इसीलिए इस दिन इनकी जयंती मनाई जाती है.

सोना ख़रीदने का चलन
इस विशेष दिन पर लोग अक्सर सोना ख़रीदते हैं. ऐसा नहीं है कि इस दिन सोने का भाव गिर जाता है, बल्कि इस दिन के पवित्र होने के कारण ही लोग बहुमूल्य चीज़ें ख़रीदते हैं. आप भी अगर सोना आदि ख़रीदना चाहते हैं, तो इस दिन ज़रूर ख़रीदें.

दान करने की परंपरा
अक्षय तृतीया  के दिन स़िर्फ कुछ ख़रीदना ही शुभ नहीं होता. इस दिन आप दान भी कर सकते हैं. ऐसी मान्यता है कि इस दिन दान करने से आपको शुभ फल की प्राप्ति होती है. इतना ही नहीं इस दिन ग़रीबों को भोजन कराने से भी लाभ मिलता है. हो सकता है कि आप बहुत अमीर न हों, लेकिन अपनी सामर्थ्य के अनुसार आप कुछ न कुछ ज़रूर दान करें.