केविन पीटरसन: विराट हैं हिट, रूट हैं फ्लॉप! (kevin pietersen: Virat Hit, Root Flop!)

टेस्ट में नंबर वन टीम इंडिया का डंका चारों दिशाओं में बज रहा है और उसकी आवाज़ से क्रिकेट जगत में खलबली मच गई है. दुनिया की बेहतरीन टीमें भी भारतीय धुरंधरों के नाम से कांपने लगी हैं. हाल ही में न्यूज़ीलैंड को सीरीज़ हरानेवाले भारतीय शेर इंग्लैंड के साथ आगामी टेस्ट मैचों की सीरीज़ में उनका शिकार करने के लिए तैयार हैं. भारतीय टीम का डर कुछ ऐसा बैठ गया है कि अब मैच शुरू होने से पहले विरोधी खेमे के पूर्व खिलाड़ी ही अपनी टीम का मनोबल गिरा रहे हैं. आइए, हम आपको बताते हैं कि आख़िर ऐसा हुआ क्या? जिसका ज़िक्र करना बहुत ज़रूरी है.

rsz_kevin-pietersen-wallpapers-black-glasses_1

हुआ कुछ ऐसा कि इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने अपनी ही टीम के ख़िलाफ़ एक ऐसा बयान दे दिया, जो मैच शुरू होने से पहले टीम के हक़ में नहीं है. केविन ने कहा कि कोहली शानदार बल्लेबाज़ हैं और वह अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में हैं. रूट के आंकड़े भी बढ़िया हैं, लेकिन दोनों में किसी भी तरह की तुलना ठीक नहीं होगी. कोहली का बल्लेबाज़ी अंदाज़ आक्रामक है और जिस प्रकार वह अपनी टीम के लिए बड़े स्कोर बनाते हैं वह अद्वितीय है. इंग्लैंड को विराट कोहली को भी रोकने का तरीक़ा निकालना होगा. भारतीय टीम की तारीफ़ में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान यहीं नहीं रुके. विराट के साथ ही केविन ने आर अश्विन की भी जमकर तारीफ़ की. केविन ने कहा कि अश्विन की बॉलिंग में वैरायटी है. मौजूदा क्रिकेट दौर के वो शानदार गेंदबाज़ हैं.

भले ही भारतीय क्रिकेट फैन्स को केविन की बात बहुत अच्छी लगी हो, लेकिन इंग्लैंड क्रिकेट फैन्स को ये बात ज़रूर नागवार गुज़री होगी. लाज़मी भी है. भारतीय क्रिकेट टीम के विरोध में अगर किसी पूर्व खिलाड़ी ने ऐसा कुछ बयान दिया होता, तो सोशल साइट्स पर अब तक हज़ारों प्रतिक्रिया आ चुकी होतीं. बहरहाल, इंग्लैंड क्रिकेट फैन्स थोड़े स्पोर्टी हैं और शायद इसीलिए वो क्रिकेट से जुड़े हर बयान को सकारात्मक रूप में लेते हैं.

अब सवाल ये उठता है कि क्या इंग्लैंड टीम केविन के बयान को अनसुना करते हुए भारतीय टीम को कड़ी टक्कर देकर केविन को खेल के द्वारा जवाब देगी या फिर न्यूज़ीलैंड की तरह भारतीय खिलाड़ियों के आगे घुटने टेक देगी? ऐसे बहुत से सवाल हैं, जो आगे मैच के द्वारा दर्शकों को मिलेंगे.

वैसे एक बात तो तय है कि 9 तारीख़ से शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच में रोमांच के साथ एक बढ़िया खेल देखने को मिलेगा. हम तो यही कहेंगे कि दोनों टीमों को अच्छा खेल दिखाने की कोशिश करनी चाहिए, बाकी यह है तो क्रिकेट… यहां कुछ भी हो सकता है.

– श्वेता सिंह