पर्सनल प्रॉब्लम्स: डिलीवरी के दूसरे ही हफ़्ते ब्रेस्ट्स में दर्द व सूजन है (Personal problems: why swelling in breasts after 2 weeks of delivery)

 
मैं 31 वर्षीया महिला हूं. दो हफ़्ते पहले ही मेरी डिलीवरी हुई है. पहले हफ़्ते के अंत तक मुझे ब्रेस्टफीडिंग में थोड़ी तकलीफ़ हुई, जो दूसरे हफ़्ते में और बढ़ गई. मेरे दोनों ब्रेस्ट्स (breasts) में बहुत दर्द हो रहा है और उनमें सूजन भी आ गई है. मुझे बुख़ार भी आ गया है. पेनकिलर्स लेने के बावजूद यह कम नहीं हो रहा. मुझे क्या करना चाहिए?
– मुस्कान द्विवेदी, कानपुर.
आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाकर अपनी जांच करवानी होगी. अगर यह मामूली सूजन होती, तो पेनकिलर्स से ठीक हो जाती, पर जैसा कि आपने बताया कि आपको बुख़ार भी है, तो हो सकता है कि आपके बे्रस्ट्स में पस हो गया हो. पस निकालने के अलावा इसका कोई और इलाज नहीं है. डॉक्टर को हल्का-सा चीरा लगाकर आपके बे्रस्ट्स से पस निकालना होगा, तभी ये ठीक होगा. आप जल्द से जल्द डॉक्टर को दिखाएं. ऐसी स्थितियों से बचने के लिए शुरुआत से ही बे्रस्टफीडिंग में सावधानी बरतें.

यह भी पढ़ें: क्या कंसीव करने की संभावना को जानने के लिए कोई टेस्ट है?

 

मेरी बेटी का नौंवा महीना चल रहा है और अभी-अभी पता चला है कि उसे डेंगू है. मुझे डर लग रहा है, कहीं इससे मां-बच्चे को कोई ख़तरा तो नहीं. कृपया, मेरी मदद करें.
– बेला कुर्मी, हैदराबाद.
प्रेग्नेंसी के दौरान डेंगू मां व गर्भ में पल रहे बच्चे दोनों के लिए बहुत ही ख़तरनाक हो सकता है. इसके कारण महिलाओं में रक्तस्राव शुरू हो सकता है और प्री-मैच्योर डिलीवरी भी हो सकती है. कुछ गंभीर मामलों में बच्चे की जान को भी ख़तरा हो सकता है. डिलीवरी के नज़दीक डेंगू होने से मां से बच्चे में ट्रांसफर होने का ख़तरा भी बना रहता है.

 

यह भी पढ़ें: मुझे हमेशा कमज़ोरी क्यों महसूस होती है?

ब्रेस्टफीडिंग के स्मार्ट टिप्स 

  • जन्म के तुरंत बाद दूध पिलाते व़क्त बच्चे के सिर को अच्छी तरह पकड़ें. हाथों से ब्रेस्ट को इस तरह संभालें कि बच्चे के सिर पर भार न पड़े.
  • फीड करते व़क्त बच्चे को दोनों तरफ़ से 10-10 मिनट तक दूध पिलाएं, क्योंकि पहले 5 मिनट तक पतला दूध ही आता है. अगर आपने 5-5 मिनट ही दोनों तरफ़ पिलाया, तो बच्चे को जल्दी भूख लग जाएगी.
  • फीड करने से पहले ब्रेस्ट्स को वेट टिश्यू पेपर से पोंछकर साफ़ कर लें.
  • अगर निप्पल की स्किन रफ व ड्राय लग रही है, तो थोड़ा-सा अपना दूध लेकर उसमें ऑलिव ऑयल मिलाकर निप्पल्स पर लगाएं, स्किन सॉफ्ट हो जाएगी.

यह भी पढ़ें: कितने ज़रूरी हैं हेल्थ सप्लीमेंट्स?

 

डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected] 

 

महिलाओं की ऐसी ही अन्य पर्सनल प्रॉब्लम्स पढ़ें

 

 

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies