कबड्डी वर्ल्ड कप- जीत ही एकमात्र विकल्प है: दीपक निवास हुड्डा (Kabaddi World Cup- Winning Is The Only Option: Deepak Niwas Hooda)

सपने तो सभी देखते हैं, लेकिन उन सपनों को पूरा करने का जज़्बा हर किसी में नहीं होता, क्योंकि हर सपने की क़ीमत होती है, हर सपने को पूरा करने के लिए हिम्मत की ज़रूरत होती है. कठिन से कठिन रास्तों को पार करना इतना आसान भी नहीं होता, लेकिन अगर इंसान में हिम्मत, लगन और हौसला है, तो उसकी मेहनत ज़रूर रंग लाती है. आज की तारीख़ में इन तमाम शब्दों का पर्याय बन चुका है कबड्डी का यह सितारा, जिसका नाम दीपक निवास हुड्डा है. अपने नाम ही की तरह वो देश का नाम रौशन करने की दिशा में क़दम बढ़ा रहे हैं. वर्ल्ड कप में खेलने के अपने अनुभवों को दीपक ने हमारे साथ शेयर किया.

Capture

देश को वर्ल्ड कप में रिप्रेज़ेंट करने की फीलिंग शेयर करना चाहेंगे?
हर प्लेयर का यह सपना होता है कि वो अपने देश  के लिए खेले और वर्ल्ड कप खेलना तो वाकई मेरे लिए बहुत ही गर्व की बात है. यह प्राउड मोमेंट है, जिसका एहसास शायद शब्दों में भी बयां नहीं किया जा सकता.

जिस तरह के समीकरण बन रहे हैं, उससे लग रहा है कि यदि हम फाइनल में पहुंचते हैं, तो…
यदि नहीं… हम फाइनल खेल रहे हैं. पक्के तौर पर हम फाइनल में पहुंचेंगे.

अच्छी बात है कि आप सभी बहुत कॉन्फिडेंट हैं, मगर फाइनल में हमें रिपब्लिक ऑफ कोरिया का ही फिर सामना करना पड़ेगा, ऐसे में पहली हार का कोई मनोवैज्ञानिक दबाव तो नहीं होगा टीम इंडिया पर?
मैं पूरी तरह से आश्‍वस्त हूं कि फाइनल मैच पूरी तरह से वन साइडेड होेनेवाला है और हम गोल्ड मेडल लेकर ही घर लौटेंगे, उससे कम कुछ भी नहीं.

इसका मतलब पहले मैच में हार का असर टीम पर बिल्कुल भी नहीं है अब?
पहले मैच में हमारी स्ट्रैटिजी में थोड़ी कमी रह गई थी, इसीलिए हमारी हार हुई, लेकिन अब हम पूरी तरह से तैयार हैं और वो ग़लती अब नहीं दोहराई जाएगी.

Capture 2

कबड्डी को एक गेम की तरह इंडिया में किस तरह से देखते हैं आप?
कबड्डी का फ्यूचर बहुत ब्राइट है, न स़िर्फ इंडिया में, बल्कि अब तो सारी दुनिया कबड्डी की दीवानी हो गई है. बहुत जल्द हम इसे ओलिंपिक्स में भी देखेंगे.

टीम इंडिया बेहद स्ट्रॉन्ग है, लेकिन कोई तो ऐसी टीम होगी, जिससे टीम को चुनौती मिल सकती है?
जी हां, खेल में हम किसी को भी कम नहीं आंक सकते, सभी टीम जीत के इरादे से ही मैट पर उतरी हैं, मेरे हिसाब से ईरान बेहद स्ट्रॉन्ग टीम है.

किस टीम की परफॉर्मेंस ने आपको सबसे ज़्यादा प्रभावित किया है?
केन्या और जापान बहुत ही अच्छा खेल रही हैं.

Capture 6

प्लेयर के लिए बेहद ज़रूरी है फिटनेस बनाए रखना, आप क्या करते हैं?
मैं सुबह और शाम 3-3 घंटे प्रैक्टिस करता हूं, एक्सरसाइज़, डायट सभी का ख़्याल रखता हूं, ऑयली और फैटी चीज़ें अवॉइड करता हूं, क्योंकि फिटनेस से कोई समझौता नहीं हो सकता.

आपने कबड्डी को करियर के तौर पर कैसे चुना?
मेरी मम्मी बचपन में ही गुज़र गई थीं, मैं जब 12वीं में था, तो घर की फाइनेंशियल कंडिशन बहुत ज़्यादा अच्छी नहीं थी, यही वजह थी कि मैंने तब कबड्डी को चुना, क्योंकि उसमें जॉब्स के चांसेस बढ़ जाते हैं और आज मैं बेहद ख़ुश हूं अपने उस निर्णय से.

एक रेडर के तौर पर किस डिफेंडर से सबसे ज़्यादा ख़तरा लगता है आपको?
डिफेंडर सभी ख़तरनाक ही होते हैं. कहा नहीं जा सकता कि कौन कब कैच कर ले, तो सभी से अलर्ट रहना पड़ता हैै.

Capture 5

आप एक ऑल राउंडर हैं, तो रेडिंग करना ज़्यादा चैलेंजिंग लगता है या डिफेंड?
दोनों ही चैलेंजिंग है. मुझे रेडिंग ज़्यादा चैलेंजिंग लगती है, क्योंकि आपको सामनेवाली टीम के इतने खिलाड़ियों के बीच से पॉइंट निकालना होता है. लेकिन डिफेंस भी अपने आप में पूरे दमखम वाली भूमिका होती है, जहां आपको रेडर को अपने दम और टेक्नीक के ज़रिए रोकना होता है.

लीग के लिए खेलना और टीम इंडिया के लिए खेलना- क्या फ़र्क होता है दोनों में?
लीग में हमारे पास ऑप्शन्स होते हैं, अपनी ग़लतियों को ठीक करने का ज़्यादा समय भी होता है, लेकिन यहां किसी भी ग़लती की कोई माफ़ी नहीं. हमें हर मैच को पूरी सतर्कता व परिपक्वता के साथ खेलना होता है, क्योंकि हम अपने देश के लिए खेल रहे होते हैं, ऐसे में ज़िम्मेदारी बढ़ जाती है.

अन्य स्पोर्ट्स से कबड्डी को आप किस तरह से कंपेयर करते हैं?
अन्य स्पोर्ट्स काफ़ी लंबे अरसे से चले आ रहे हैं, तो उनके साथ कंपैरिज़न करना सही नहीं, लेकिन दूसरी तरफ़ यह भी सच है कि कबड्डी ने बहुत ही कम समय में लोगों के दिलों में ज़्यादा जगह बनाई है. आज लोग अन्य स्पोर्ट्स के मुक़ाबले कबड्डी देखना अधिक पसंद करते हैं.

कोई ऐसा प्लेयर जो आपको सबसे ज़्यादा इंस्पायर करता हो?
जी अजय ठाकुर. वो मेरा दोस्त भी है और बहुत मेहनती प्लेयर है. उससे मुझे काफ़ी प्रेरणा व हौसला मिलता है.

Capture 7

एक अच्छा प्लेयर बनने के लिए कौन-सी स्किल्स सबसे ज़्यादा ज़रूरी हैं?
पेशेंस और फिटनेस.

आपका फेवरेट एक्टर कौन है?
रणबीर कपूर.

फेवरेट एक्ट्रेस?
दीपिका पादुकोण.

फेवरेट फूड?
गुलाब जामुन.

मीठा तो फैटी होता है?
जी, इसीलिए जब मैचेस नज़दीक होते हैं, तो कंट्रोल करता हूं, पर मुझे गुलाब जामुन बेहद पसंद है.

फैन्स के लिए कोई मैसेज?
सभी देशवासियों को यही कहना चाहूंगा कि हम आपको निराश नहीं करेंगे. वर्ल्ड कप हमारा है.  गोल्ड से कम कुछ नहीं है हमारे लिए और सभी की दुआएं हैं हमारे साथ, तो हम बेहतरीन परफॉर्मेंस से सबको ख़ुश करेंगे.

– गीता शर्मा