धनिया के 17 अमेज़िंग फ़ायदे (17 Amazing Health Benefits Of Coriander)

Health Benefits Of Coriander

मसालों में धनिया (Health Benefits Of Coriander) का अपना महत्व तो है ही, लेकिन यह बात बहुत कम गृहिणियों को मालूम है कि धनिया औषधि के रूप में भी लाभकारी है. हरे और सूखे धनिये में ढेर सारे स्वास्थ्यवर्द्धक गुण छिपे हुए हैं. धनिया का उपयोग घरेलू औषधि के रूप में सहजता से किया जा सकता है.

* शरीर के किसी हिस्से में सूजन अथवा जलन होने पर धनिया को सिरके में बारीक़ पीसकर सूजे हुए हिस्से या जलनवाले भाग पर लेप करने से लाभ मिलता है.

* हरे धनिया का रस सूंघने और पत्तियों को पीसकर सिर पर लेप लगाने से नाक से बहनेवाला ख़ून बंद हो जाता है.

* यदि ठंड के साथ बार-बार बुख़ार चढ़ता हो, तो सूखा धनिया और सोंठ समान मात्रा में मिक्स करके रख लें. इसे 1-1 टीस्पून दिन में चार बार लेने से बुख़ार में आराम मिलता है.

* हरा धनिया, कालीमिर्च, काला नमक और पिसा हुआ जीरा मिलाकर चटनी बनाकर खाने से कब्ज़ की समस्या दूर होती है.

* हरे धनिया का रस मुंह के छालों पर लगाने व सूखा धनिया पानी में उबालकर उससे गरारे करने से मुंह के छाले ठीक हो जाते हैं.

यह भी पढ़े: फिटकरी के 12 चमत्कारी फ़ायदे 

* हरे धनिया को बारीक़ पीसकर उसमें मिश्री और पानी मिलाकर लस्सी की तरह बनाकर दिन में तीन बार पीने से अनिद्रा की समस्या में लाभ होता है.

* पेटदर्द या जलन होने पर धनिया का चूर्ण मिश्री के साथ पानी में घोलकर पीने से आराम होता है.

* पेशाब में जलन होने पर सूखा धनिया और आंवला समान भाग में लेकर रात को भिगो दें. सुबह बारीक़ पीसकर शर्बत की तरह एक सप्ताह तक नियमित पीना लाभदायक होता है.

* मुंह से आनेवाली दुर्गंध को सूखा धनिया चबाकर दूर किया जा सकता है. प्याज़ व लहसुन की गंध भी धनिया चबाने से दूर होती है.

* हरे धनिया को पीसकर रस निकालकर कपड़े से छान लें. यह रस घी में मिलाकर दो-दो बूंदें आंखों में सुबह-शाम डालने से दुखती आंखों को लाभ होता है. आंखों की फुंसियां, फूली, पपड़ी वगैरह दूर होती है और चश्मे का नंबर उतरता है. आंखों के विकारों में हरा धनिया बहुत उपयोगी है.

* धनिया पानी में भिगो दें और उसे मसलकर छान लें. उसमें शहद व शक्कर मिलाकर पीने से बार-बार लगनेवाली प्यास शांत होती है.

यह भी पढ़े: महिलाओं में कमरदर्द- 10 उपयोगी घरेलू नुस्ख़े

* हरे धनिया को पीसकर और उसे गर्म कर पुल्टिस बनाकर बवासीर के मस्सों पर सेंक करने से मस्से नरम पड़ते हैं और दर्द दूर होता है.

* हरे धनिया के रस और शक्कर को चावल के मांड में मिलाकर पिलाने से बच्चों की खांसी और सांस रोग दूर होता है.

* गठिये से परेशान मरीज़ों द्वारा नियमित रूप से धनिये का सेवन करने से लाभ मिलता है. साथ ही धनिये के तेल से घुटनों की मालिश करने से घुटने के दर्द में आराम मिलता है.

* उल्टियां होने पर एक चम्मच धनिया का सेवन करने से उल्टी तुरंत बंद हो जाती है.

* यदि लगातार हिचकी आ रही है, तो धनिया के कुछ दाने मुंह में रखकर चूसने से हिचकी आनी बंद हो जाएगी.

सुपर टिप
कमज़ोरी, थकान महसूस होने या फिर चक्कर आने पर आधा कप पानी में 2 चम्मच धनिया का रस व 1 टेबलस्पून मिश्री मिलाकर सुबह-शाम लें.

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana