Short Stories

मेरी सहेली की कहानी (Kahani) भावनाप्रधान, रोमांटिक (Romantic) व मर्मस्पर्शी होती हैं. ये ऐसी हिंदी कहानियां (Hindi Kahaniya) हैं, जो जीने की प्रेरणा देने के साथ-साथ हमें आत्मनिर्भर व आत्मविश्‍वासी भी बनाती हैं
kise apna kahe

कहानी- किसे अपना कहें (Short Story- Kise Apna Kahe)

  \ मेरी तरह कितनी औरतें विधवा होती हैं. सब रोती नहीं हैं, न ही अपनी बेटियों के घर पड़ी रहती हैं. जीती हैं, व़क़्त से लड़ती हैं, फिर मैं ही क्यों इतनी कमज़ोर पड़ गई हूं. प्रभाजी ने मन और भी पक्का कर लिया कि अब वह लौटकर अमेरिका नहीं आएंगी. आख़िर जिस देश … Continue reading कहानी- किसे अपना कहें (Short Story- Kise Apna Kahe) »

Parajay_

कहानी- पराभव (Short Story- Parabhav)

  “समय बदल रहा है यारों… वर्तमान राजनीति में महिला पत्रकारों की ही धूम है.” सुकांत के दिल की कड़वाहट मानो ज़ुबान पर आ गई थी. “साफ़-साफ़ क्यों नहीं कहते कि उसने हमारे शर्मा साहब को शीशे में उतार रखा है.” मदन ने व्यंग्य किया.   सुकांत आज ऑफ़िस जल्दी पहुंच गया था. कई लेखों … Continue reading कहानी- पराभव (Short Story- Parabhav) »

Panchtantra Ki Kahani

पंचतंत्र की कहानी: किसान और सांप (Panchtantra Ki Kahani: The Farmer And The Snake)

पंचतंत्र की कहानी: किसान और सांप (Panchtantra Ki Kahani: The Farmer And The Snake) एक गांव में एक किसान (Farmer) रहता था. उसकी सारी ज़मीन पिछले 2-3 सालों से सूखे की मार झेल रही थी और वो पूरी तरह सूख चुकी थी. सर्दी का मौसम आ चुका था. किसान पेड़ के नीचे आराम कर रहा … Continue reading पंचतंत्र की कहानी: किसान और सांप (Panchtantra Ki Kahani: The Farmer And The Snake) »

Aakhar Ki Jot 1

कहानी- आखर की जोत (Short Story- Aakhar Ki Jyot)

  “देख सीमा, तेरी बेटी के सजाए नन्हें दीयों से तेरा पूरा घर जगमगा रहा है.” सीमा मुझसे लिपट गई, “इन दीयों की ज्योति तो दो दिन के त्यौहार तक ही है, लेकिन जो आखर की जोत आपने मेरे मन में, मेरे जीवन में जलायी है उसकी ज्योति ने तो मेरे पूरे जीवन के अंधकार … Continue reading कहानी- आखर की जोत (Short Story- Aakhar Ki Jyot) »

Saugat final

कहानी- सौग़ात (Short Story- Saugat)

उसकी तोतली बोली पहली बार साम्या के कानों में मिश्री घोल रही थी. उसकी उजली हंसी साम्या की आत्मा पर सालों से छाए अंधकार को मिटा रही थी. उसकी वो निश्छल आंखें ईश्‍वर के दर्शन करा रही थीं. साम्या के ममत्व की धार जो अब तक सूखी थी, आज फूट-फूटकर बहना चाहती थी. पिता की … Continue reading कहानी- सौग़ात (Short Story- Saugat) »

monsoon

कहानी- मॉनसून (Short Story- Monsoon)

“पुराने ज़माने में जीवन को चार हिस्सों में बांटते थे, जिसका चौथा हिस्सा वानप्रस्थ होता था. सांसारिक मोह-माया से माता-पिता नाता तोड़ लेते थे. अपने बच्चों को घर की बागडोर सौंपते थे. आज के ज़माने में मुमकिन नहीं है, तो ऐसे में मन से ख़ुद को गृहस्थी से अलग कर लेना बेहतर है… सच पूछ … Continue reading कहानी- मॉनसून (Short Story- Monsoon) »

Panchtantra Ki Kahani

पंचतंत्र की कहानी: आलसी ब्राह्मण (Panchtantra Ki Kahani: The Lazy Brahmin)

पंचतंत्र की कहानी: आलसी ब्राह्मण (Panchtantra Ki Kahani: The Lazy Brahmin) बहुत समय की बात है. एक गांव में एक ब्राह्मण अपनी पत्नी और बच्चों के साथ रहता था. उसकी ज़िंदगी में बेहद ख़ुशहाल थी. उसके पास भगवान का दिया सब कुछ था. सुंदर-सुशील पत्नी, होशियार बच्चे, खेत-ज़मीन-पैसे थे. उसकी ज़मीन भी बेहद उपजाऊ थी, … Continue reading पंचतंत्र की कहानी: आलसी ब्राह्मण (Panchtantra Ki Kahani: The Lazy Brahmin) »

Adhuri Tasveerein final

कहानी- अधूरी तस्वीरें (Short Story- Adhuri Tasveerein)

बस चलते ही अविनाश का मन एक बार फिर कड़वी स्मृतियों से भर गया. आंखें जलने लगीं और उस अपमान को याद कर पूरा वजूद ही तिलमिला उठा. नहीं करनी अब उसे दूसरी शादी. नौ साल हो गये उस बात को. पर मन के छाले हैं कि सूखते नहीं, बल्कि बार-बार फूट कर उसे आहत … Continue reading कहानी- अधूरी तस्वीरें (Short Story- Adhuri Tasveerein) »

Antim Gujarish-1 (1)

कहानी- अंतिम गुज़ारिश (Short Story- Antim Guzarish)

  औरत का अपने पति के जीवन में क्या इतना ही अस्तित्व है कि वह बच्चा पैदा करनेवाली एक मशीन मात्र है? बच्चा है, तो उसका अस्तित्व पति के जीवन में है, वरना इस एक कारण मात्र से ही पति उसके सारे प्यार और गुणों को भुला देता है. अंधेरे को चीरती ट्रेन बड़ी तेज़ी … Continue reading कहानी- अंतिम गुज़ारिश (Short Story- Antim Guzarish) »

shar shayya

कहानी- शर-शैया (Short Story- Shar-Shaiya)

प्रेम यदि किसी से होता है, तो सदा के लिए होता है, वरना नहीं होता. लेकिन अब तो मेरी सारी इच्छाएं पूरी हो गई हैं, कोई ख़्वाहिश बाकी नहीं रही. फिर सीने पर ये धोखे का बोझ लेकर क्यों जाऊं…? मरना है तो हल्की होकर मरूं… तुम्हें मुक्त करके जा रही हूं, तो मुझे भी … Continue reading कहानी- शर-शैया (Short Story- Shar-Shaiya) »

Panchtantra ki kahani

पंचतंत्र की कहानी: चूहे की शादी (Panchtantra ki kahani: The Wedding Of The Mouse)

पंचतंत्र की कहानी: चूहे की शादी (Panchtantra ki kahani: The Wedding Of The Mouse) बहुत पुराने समय की बात है. गंगा नदी के तट पर एक सुन्दर सा आश्रम था. उस आश्रम में एक ज्ञानी संन्यासी रहते थे. एक बार गुरूजी नदी में नहा रहे थे. उन्होंने देखा कि एक बाज़ छोटी सी चुहिया को अपने … Continue reading पंचतंत्र की कहानी: चूहे की शादी (Panchtantra ki kahani: The Wedding Of The Mouse) »

Ka- Prashno ke chaurahe par khadi Maa

कहानी- प्रश्‍नों के चौराहे पर खड़ी मां (Short Story- Prashno Ke Chaurahe Par Khadi Maa)

  पर मेरी हर चाहत शादी के मंडप में जलकर राख हो गई. तब मैं आईने में ख़ुद को देख-देख कर रोती रहती और सवाल करती भगवान से कि आख़िर उसने मुझे लड़की क्यों बनाया? पर अभिषेक को पाकर ज़िंदगी से कोई शिकायत नहीं रही. मैंने स्वप्न में भी नहीं सोचा था कि मेरे सामने … Continue reading कहानी- प्रश्‍नों के चौराहे पर खड़ी मां (Short Story- Prashno Ke Chaurahe Par Khadi Maa) »

1 2 3 16