Short Stories

ek aur ek gyarah

पंचतंत्र की कहानी- एक और एक ग्यारह (Panchtantra Story-The Elephant and Sparrow)

एक बार की बात है बनगिरी के घने जंगल में एक उन्मुत्त हाथी ने भारी उत्पात मचा रखा था. वह अपनी ताकत के नशे में चूर होने के कारण किसी को कुछ नहीं समझता था. बनगिरी में ही एक पेड़ पर एक चिड़िया व चिड़े का छोटा-सा सुखी परिवार रहता थाय चिड़िया अंडों पर बैठी … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- एक और एक ग्यारह (Panchtantra Story-The Elephant and Sparrow) »

web-dek-mutti

कहानी- एक मुट्ठी धूप (Short Story- Ek Mutthi Dhoop)

“पता है अभिमन्यु, अक्सर लोग हमारा आज नहीं देखना चाहते, लोगों को तो केवल हमारे अतीत में दिलचस्पी होती है. मुझे और रिया को कुरेदकर, वे हमारे पीछे खड़े अतीत को देख लेना चाहते हैं. अभिमन्यु मैं बचपन से ही ऐसी हूं. बहुत बोलनेवाली, हंसनेवाली और ख़ुश रहनेवाली.”   देखो-देखो मेरे हाथों में क्या है?” … Continue reading कहानी- एक मुट्ठी धूप (Short Story- Ek Mutthi Dhoop) »

web-adhuri-kahani

कहानी- एक अधूरी कहानी (Short Story- Ek Adhuri Kahani)

काफ़ी अरसा बीत गया. जो बातें मैं तब न समझती, वह अब समझने लगी थी, महसूस करने लगी थी. मामीजी की अकेली रातों की वीरानगी और उससे भी बढ़कर उनके भीतर छिपा पराजय का बोध… परित्यक्ता का अपमान… किससे बांटती होंगी वे अपने मन का दर्द? कितना भी प्रयत्न करतीं, लेकिन उम्र में अपने से … Continue reading कहानी- एक अधूरी कहानी (Short Story- Ek Adhuri Kahani) »

web-loving-memory

कहानी- लविंग मेमोरी (Short Story- Loving Memory)

मैं सोचने लगी- यह एकदम कैसा बदलाव आ गया विजय पाल में. प्रायश्‍चित के किस क्षण ने उनकी आंखों पर पड़ा परदा हटा दिया था. मन में उगे ईर्ष्या और अविश्‍वास के झाड़-झंखाड़ को जला डाला था. लेकिन वह तरुणा से अपना मन बदलने की बात क्यों छिपाना चाहते हैं? क्या पुरुष का थोथा अहम् … Continue reading कहानी- लविंग मेमोरी (Short Story- Loving Memory) »

snake

पंचतंत्र की कहानी- झगड़ालू मे़ंढक (Panchtantra Story- Frog & Snake)

एक कुएं में ढेर सारे मेंढ़क रहते थे. मे़ंढकों के राजा का नाम था गंगदत्त. वह बहुत झगड़ालू स्वभाव का था. आसपास दो-तीन और कुए थे जिनमें भी मेंढक रहते थ. हर कुएं के मेंढ़कों का अपना राजा था. हर राजा से किसी न किसी बात पर गंगदत्त का झगड़ा होता रहता था. वह अपनी … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- झगड़ालू मे़ंढक (Panchtantra Story- Frog & Snake) »

naari-mukti11-web

कहानी- नारी-मुक्ति (Short Story- Nari-Mukti)

कितना भोला… कितना मासूम है मेरा कल्पेश… मम्मी तो न जाने मन से क्या-क्या सोच लेती है. यदि पापा मुझे न समझाते तो न जाने कटी-पतंग सा मेरा क्या हाल होता…   सुबह फ़ोन की घंटी से कृपाली की नींद टूटी- “हैलो कृपाली? मैं कल्पेश…” “हां बोलो… क्या कहना है?” “कहना तो बहुत कुछ है … Continue reading कहानी- नारी-मुक्ति (Short Story- Nari-Mukti) »

talak-4

कहानी- तलाक़ के बाद (Short Story- Talaq ke baad)

  अब बात मान-सम्मान और अहम् में फंस गई. जिन्हें अपने जीवन का फैसला करना था, वो अन्य लोगों के अभिमान में उलझकर रह गए. अभिनव ने पहल भी की, लेकिन सामर्थ्यहीन होकर उसने भी घुटने टेक दिए. रुचिका शायद इतनी निराश हो चुकी थी कि अब ससुराल में उसे कोई उम्मीद की किरण नहीं … Continue reading कहानी- तलाक़ के बाद (Short Story- Talaq ke baad) »

pegion

पंचतंत्र की कहानी- एकता का बल (Panchtantra Story- Unity Is Strength)

बहुत समय पहले की बात है, कबूतरों का एक झुंड खाने की तलाश में आसमान में उड़ता हुआ जा रहा था. कुछ दूर जाने के बाद ग़लती से भटककर ये झुंड ऐसे प्रदेश के ऊपर से गुजरा, जहां भयंकर अकाल पड़ा था. कबूतरों का सरदार चिंतित हो गया. कबूतरों के शरीर की शक्ति समाप्त होती … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- एकता का बल (Panchtantra Story- Unity Is Strength) »

ka-Sauteli maa Resize illustration final

कहानी- सौतेली मां (Short Story- Sauteli Maa)

हमने जबसे होश संभाला, आपको ही देखा, आपको ही पाया. हर क़दम पर साये की तरह आपने ज़िंदगी की धूप से हमें बचाया. अपनी नींदें कुर्बान करके हमें रातभर थपकी देकर सुलाया. फिर भी हर ख़ुशी के मौ़के पर यहां आंसू बहाए जाते हैं कि आज हमारी सगी मां होती, तो ऐसा होता, वैसा होता… … Continue reading कहानी- सौतेली मां (Short Story- Sauteli Maa) »

Featured

कहानी- चार स्त्रियां (Short Story- Char Striyan)

  मातृत्व- एक छोटा-सा शब्द, जो अपने आप में पूरा संसार समेटे है. यह एक जादुई शब्द है, एक जादुई एहसास, जो कई जीवनों को बदलता है. स्त्री श्रेष्ठ है, क्योंकि प्रकृति ने अपना यह वरदान उसे दिया है, पर… पर ज़रा रुकिए और एक क्षण के लिए सोचिए उन स्त्रियों का क्या, जिन्हें यह … Continue reading कहानी- चार स्त्रियां (Short Story- Char Striyan) »

Of-Crows-And-Owls

पंचतंत्र की कहानी- कौआ और उल्लू (Panchtantra Story- The Owl and The Crow)

बहुत समय पहले की बात हैं, एक जंगल में विशाल बरगद का पेड़ कौओं की राजधानी थी. हजारों कौए उस पर रहते थे. उसी पेड़ पर कौओं का राजा मेघवर्ण भी रहता था. बरगद के पेड़ के पास ही एक पहाड़ी थी, जिसमें कई गुफाएं थीं. उन गुफाओं में उल्लू रहते थे, उनका राजा अरिमर्दन … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- कौआ और उल्लू (Panchtantra Story- The Owl and The Crow) »

Hindi Story

कहानी- आज की लड़की (Short Story- Aaj ki ladki)

“क्या इससे तुम बदनामी से बच जाओगी?” “यही तो वो प्रश्‍न है, जिससे बचने के लिए सदियों से निर्दोष स्त्री सज़ा भुगतने पर विवश होती रही है… मुझे ऐसी बदनामी की कोई परवाह नहीं… अगर मैं ग़लत नहीं हूं तो डरूं क्यों? मैं आज की लड़की हूं, जो विषम परिस्थिति की चट्टान को भेदकर, सफलता … Continue reading कहानी- आज की लड़की (Short Story- Aaj ki ladki) »

1 2 3 10