Short Stories

मेरी सहेली की कहानी (Kahani) भावनाप्रधान, रोमांटिक (Romantic) व मर्मस्पर्शी होती हैं. ये ऐसी हिंदी कहानियां (Hindi Kahaniya) हैं, जो जीने की प्रेरणा देने के साथ-साथ हमें आत्मनिर्भर व आत्मविश्‍वासी भी बनाती हैं

 

 

aakhri sawal1

कहानी- अपनी खोज में… (Short Story- Apni Khoj mein…)

“कुछ बिरले ही ऐसे होते हैं, जो जीवन के मध्यान्तर में भी अपने पैरों में बेड़ियां डाले विकास के पथ पर चलते रहते हैं. मैं अपनी आत्मा को उतना दृढ़ नहीं पाती. ये हमारे मार्ग में बाधक ही बनेगी. सौ-सौ बार विचार किया है इन विषयों पर. लेकिन मुझे क्या पता था कि जीवन ऐसे … Continue reading कहानी- अपनी खोज में… (Short Story- Apni Khoj mein…) »

Swans-and-turtle-friends

पंचतंत्र की कहानी- मूर्ख बातूनी कछुआ (Panchtantra Story- Two Swan & Turtle)

एक तालाब में एक कछुआ रहता था. उसी तालाब में दो हंस भी तैरने आया करते थे. हंस बहुत हंसमुख और मिलनसार स्वभाव के थे. इसलिए कछुए और हंस में दोस्ती होते देर नहीं लगी. कुछ ही दिनों में वे बहुत अच्छे दोस्त बन गएं. हंसों को कछुए का धीरे-धीरे चलना और उसका भोलापन बहुत … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- मूर्ख बातूनी कछुआ (Panchtantra Story- Two Swan & Turtle) »

sach 1

कहानी- सच (Short Story- Sach)

  “अपने नसीब में ये सब सुख कहां? अलका को हमारा ध्यान ही कब रहता है? जब घर में रहती है, तो सारा समय इधर-उधर ही करती रहती है, इस तरह साथ में चाय-पकौड़े खाए पता नहीं कितना समय हो गया.” 5.30 वाली बस में चढ़ने में अलका सफल हो गयी थी. खिड़की के पास … Continue reading कहानी- सच (Short Story- Sach) »

001

कहानी- ट्रूज़ो (Short Story- Trousseau)

“तुमने ये सब सीख रखा है. मुझे तो विश्‍वास ही नहीं हो रहा और ये सब प्रमाणपत्र, मेडल आदि तुमने जीते हैं? तो इन्हें छुपाकर क्यों रखा है? बेटी, तुम्हारा असली ट्रूज़ो तो यही है. मैं नहीं जानती आधुनिक पीढ़ी के लिए ट्रूज़ो के क्या मायने हैं? लेकिन मेरे शब्दकोश में नववधू का असली ख़ज़ाना … Continue reading कहानी- ट्रूज़ो (Short Story- Trousseau) »

कहानी

कहानी- कार्ड (Short Story- Card)

“कैसे त्याग दूं मोह-माया?” सरोजिनी बुदबुदायी. इसी मोह-माया ने तो ज़िन्दगी के सत्तर वर्षों को सुंदर बनाया और पल-पल ख़ुशियों में गुज़रा. हर दिन एक नई आशा, नई ख़ुशी लेकर आता था. पल-पल बढ़ती बच्चों की शरारतों, लड़ाई-झगड़ों, प्यार-ग़ुस्से, मनुहार आदि को संजोया है मैंने, भविष्य के सुंदर सपने बुने हैं. वृद्धावस्था और मोतियाबिन्द से … Continue reading कहानी- कार्ड (Short Story- Card) »

Elephants-And-Hares

पंचतंत्र की कहानी- बड़े नाम का चमत्कार (Panchtantra Story- Bade Naam ke Chamatkar)

बहुत साल पहले एक जंगल में हाथियों का झुंड रहता था. उस झुंड के सरदार का नाम चतुर्दंत था, दो बहुत विशाल, पराक्रमी, गंभीर और समझदार था. सब उसके संरक्षण में सुखी थे. वह सबकी समस्याएं सुनता और उनका हल निकालता था. उसकी नज़र में छोटे-बड़े सब बराबर थे, वो सबका ख़्याल रखता था. एक … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- बड़े नाम का चमत्कार (Panchtantra Story- Bade Naam ke Chamatkar) »

bharosa1

कहानी- भरोसा (Short Story- Bharosa)

लगता है अजय भी यह जता देना चाहता है कि वह प्रिया को भूला नहीं है, अन्यथा अजय प्रिया के आने की सूचना देते समय कल ही प्रिया के बारे में हर आवश्यक जानकारी दे सकता था. क्या वह आज भी प्रिया से उतना ही प्यार करता है जितना कि पहले करता था? अखिला का … Continue reading कहानी- भरोसा (Short Story- Bharosa) »

Son Chireeya 5

कहानी- सोन चिरैया (Short Story- Son Chirayya)

  सोन चिरैया हंसी. बोली, “हे रानी, मैं तो बस तुम्हारे भीतर बैठी लालसा हूं, जो कुछ तुम सोचती और मांगती हो, वही तो मैं तुम्हें देती हूं. फिर भी तुम उदास हो जाती हो. जानती हो क्यों, क्योंकि लालसाएं कभी ख़त्म नहीं होतीं. जिस तरह मैं सोने के पिंजरे में कैद हूं, उसी तरह … Continue reading कहानी- सोन चिरैया (Short Story- Son Chirayya) »

कहानी

कहानी- दो टके की लड़की (Short Story- Do take ki ladaki)

  “ऐसी मंशा नहीं थी मेरी… तुम्हारा पुरुषार्थ कुंठित हो ऐसा तो मैं कदापि नहीं चाहती थी, परंतु पुरुषार्थ की बागडोर संयम के हाथों रहे, यह भी आवश्यक था. अपनी ग़लती सुधारने का और प्रायश्‍चित करने का एक मौक़ा दिया था मैंने तुम्हें, परंतु…” कहीं फिर से कपिल को बुखार न चढ़ आया हो… पता … Continue reading कहानी- दो टके की लड़की (Short Story- Do take ki ladaki) »

कहानी

पंचतंत्र की कहानी- मित्र की सलाह (Panchtantra Story- Friend’s Advice)

एक धोबी का गधा था. वह दिन भर कपडों के गट्ठर इधर से उधर ढोने में लगा रहता. धोबी स्वयं कंजूस और निर्दयी था. अपने गधे के लिए चारे का प्रबंध भी नहीं करता था, बस रात को चरने के लिए खुला छोड़ देता. निकट में कोई चरागाह भी नहीं थी. शरीर से गधा बहुत … Continue reading पंचतंत्र की कहानी- मित्र की सलाह (Panchtantra Story- Friend’s Advice) »

chakkar pe chakkar NEW

कहानी- चक्कर पे चक्कर (Short Story- Chakkar Pe Chakkar)

  मम्मी-पापा की अकाल मृत्यु के बाद नरेन भैया ही तो उसके सब कुछ थे. उसे पढ़ा-लिखाकर अपने पैरों पर खड़ा करने में उन्होंने मानो ख़ुद को होम कर डाला था. अब 6 महीने वह कैसे रहेेगी उनके बिना? वान्या ने किसी तरह अपने आंसुओं को रोका. वान्या आज फिर बिगड़े मूड में घर लौटी … Continue reading कहानी- चक्कर पे चक्कर (Short Story- Chakkar Pe Chakkar) »

कहानी

कहानी- मिस चार्मिंग (Short Story- Miss Charming)

  “मैंने बहुत कोशिश की कि मैं वहां से भाग जाऊं, पर मैं तो जैसे किसी अंधे कुएं में गिर चुकी थी. यह एक सोफिस्टीकेटेड लोगों की दुनिया थी, जहां पांच सितारा होटलों, फार्म हाउसों और आलीशान बंगलों में स्मार्ट, चार्मिंग, एज्युकेटेड लड़कियां भेजी जाती थीं, कुछ घंटों, दिन या फिर किसी बिज़नेस ट्रिप पर … Continue reading कहानी- मिस चार्मिंग (Short Story- Miss Charming) »

1 2 3 13