Geet / Gazal

कविता- काश! (Kavita- Kash!)

ज़िंदगी पूरी लगा दी एक-दूसरे को परखने में सोचती हूं काश! समय रहते कुछ वक़्त लगाया होता एक-दूसरे को ...

hindi kavita, hindi kavya

काव्य- जब भी मायके जाती हूं… (Kavay- Jab Bhi Mayke Jati Hun…)

  जब भी मायके जाती हूं फिर बचपन जी आती हूं टुकड़ों में बंटी ख़ुशियों को आंचल में समेट लाती हूं ...

Gazal, Thoda-Sa Aasman

ग़ज़ल- थोड़ा-सा आसमान… (Gazal- Thoda-Sa Aasman)

  ग़म इतने मिले ख़ुशी से डर लगने लगा है मौत क्या अब ज़िंदगी से डर लगने लगा है सोचा था मिलेगी ...

Gazal, Meri Tanhai

ग़ज़ल- मेरी तन्हाई (Gazal- Meri Tanhai)

  जो महफ़िलें रुलाती मुझे हैं उनसे अच्छी मेरी तन्हाई है जो महफ़िलें इल्ज़ाम लगाती हैं उनसे ...

कविता- अब बिन तेरे सूना है संसार… (Kavita- Ab Bin Tere Soona Hai Sansar…)

जब-जब तुमसे मुलाक़ात होती है मेरे दिल में कोई गीत उतर आता है सामने आ जाते हो तुम मेरा सूना-सा जहां ...

Kavita, Prem

कविता- प्रेम (Kavita- Prem)

बेशक़ीमती हैं पल तुम्हारे यूं ख़्वाबों में आया न करो माना ह्रदय में उमड़ता प्यार बहुत है कहूं ...

ख़्वाबों की ज़िंदगी, Khwabon Ki Zindagi

 ख़्वाबों की ज़िंदगी… (Khwabon Ki Zindagi…)

अपने ख़्वाबों की ज़िंदगी  तो सभी जीते हैं.. पर ज़िंदगी तो वह है, जो किसी का ख़्वाब हो जाए…           ...

Rohit Ki Kalam Se

रोहित की कलम से… (Rohit Ki Kalam Se…)

  बदला हुआ मौसम अचानक हिंदी पर गोष्ठियां, सम्मेलन व तरह-तरह के समारोह आयोजित होने लगे थे. ...

Kavita Teen Talak Ek Abhishap

कविता- तीन तलाक़ एक अभिशाप! (Kavita- Teen Talak Ek Abhishap)

गड़ा हुआ सीने पे कब से पत्थर तीन तलाक़ का क्यों नहीं गिरने देती तुम, पाखंड निरे नकाब का बुरखे के ...

Kavita, Aasha-Nirasha

कविता- आशा-निराशा (Kavita- Aasha-Nirasha)

मैं, मेरा व्याकुल मन, जब रात देर तक जाग रहे थे इक मुट्ठी भर आसमान, हम हसरत से ताक रहे थे तभी उठी ...

Gazal, Ret Pe Likhti Rahi, Mitati Rahi, Woh Tera

ग़ज़ल- रेत पे लिखती रही, मिटाती रही, वो तेरा नाम था (Gazal- Ret Pe Likhti Rahi, Mitati Rahi, Woh Tera Naam Tha…)

रेत पे लिखती रही, मिटाती रही, वो तेरा नाम था रातभर जिसे दिल गुनगुनाता रहा, वो तेरा नाम था… रूह ...

Kavita, Dohare Mapdand

कविता- दोहरे मापदंड (Kavita- Dohare Mapdand)

         कंचन देवड़ा मेरी सहेली वेबसाइट पर कंचन देवड़ा की भेजी गई कविता को हमने अपने वेबसाइट के ...

1 2 3