Family Drama

कहानी- सीख (Short Story- Seekh)

हिंदी कहानी- सीख (Hindi Short Story- Seekh)

  “बाबूजी, संसार में हर जन अकेला आवे है और यहां से अकेला ही जावे है. भगवान हमारे जरिये से दुनिया ...

कहानी, इस झूठ का कोई पाप नहीं, Short Story, Iss Jhuth Ka Koi Paap Nahi

हिंदी कहानी- इस झूठ का कोई पाप नहीं (Hindi Short Story- Iss Jhuth Ka Koi Paap Nahi)

जैसे मां को पिताजी के सामने कभी अपनी ज़िंदगी जीते नहीं देखा था, वैसा मुझे अब नहीं देखना था, इसलिए ...

Hindi Short Story

हिंदी कहानी- अपवाद (Hindi Short Story- Apwad)

“परिपक्व उम्र का प्यार भी परिपक्व होता है बेटी. अब शारीरिक क्षुधा तो समाप्त हो गई है और मन उनके ...

Hindi Short Story

हिंदी कहानी- भूख (Hindi Short Story- Bhookh)

  बंगलों से बचा-खुचा ले जाना अभी तक उसकी नियति थी तो क्या सूतक लगे घर का खाना ले जाना ...

Hindi Short Story

हिंदी कहानी- एक चादर सुंदर-सी (Hindi Short Story- Ek Chadar Sundar-Si)

  यहां आकर आपकी बातें सुनकर जाना यह भी एक दुनिया है, जो पॉज़ीटिव और सिंपल है. जहां किसी को तुच्छ ...

कहानी, सेफ्टी पिन, Short Story, Safety Pin, हिंदी कहानी

हिंदी कहानी- सेफ्टी पिन (Hindi Short Story- Safety Pin)

  एक-दो मौक़ों पर यह डिवाइस सचमुच डूबते को तिनके का सहारा साबित भी हो गया. एक बार स्कूल में दीदी ...

कहानी, सेलिब्रेशन, Short Story, Celebration

हिंदी कहानी- सेलिब्रेशन (Hindi Short Story- Celebration)

‘नहीं… मरने से कुछ नहीं होगा, न भागने से. जीवन जैसा मिला है, जीना ही तो है. जो जैसा है, ...

Short Story in hindi

हिंदी कहानी- अब यहां गौरैया नहीं चहकती (Hindi Short Story- Ab Yaha Goraya Nahi Chahkati)

  वह भी अकेली बियाबान में भटकती हुई गौरैया के चहकने के इंतज़ार में ज़िंदगी काट रही है. शायद कभी ...

हिंदी कहानी, केबीसी, Short Story, KBC

हिंदी कहानी- केबीसी (Hindi Short Story- KBC)

  उसका भावहीन सपाट चेहरा देखकर कई बार मैं डर जाता था. लगता था एक ज़िंदा लाश के संग रह रहा हूं, ...

Hindi Short Story

हिंदी कहानी- बूढ़ा वृक्ष (Hindi Short Story- Boodha Virksh)

  आरव की बातें सुन वह बिल्कुल जड़ हो गई. बेटे के मुख से निकला एक-एक शब्द उसकी आत्मा पर प्रहार कर ...

Hindi Short Story

हिंदी कहानी- गोरबन्द (Hindi Short Story- Gorband)

“नारायण, वो ऊंटों के गले में पहनी जानेवाली ज्वेलरी को क्या कहते हैं?” नारायण ने अचकचाकर नैन्सी ...

Short Story

हिंदी कहानी- बेजान न जान  (Hindi Short Story- Bejaan Na Jaan)

बनवारीलाल का मन कसक उठा. बेटी के पराये होने और बेटे के पराये होने में कितना अंतर है! बेटी पराई ...

1 9 10 11 12 13 18